आजाद अध्यापक शिक्षक संध ने अपनी मांगो को लेकर निकाली रैली, सीएम के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

ज्ञापन में यह स्पष्ट रूप से शासन से लिखित संकेत दिया गया है कि यदि हमारी मांगे जल्द पूरी नहीं होगी तो पूरे मध्यप्रदेश मे अनिश्चितकालीन धरना देकर अपनी मांगो पर शासन का ध्यानाकर्षण कराया जायेगा।

भिंड, सचिन शर्मा। भिंड (Bhind) में पुरानी पेंशन योजना की बहाली और अपनी अन्य लंबित मांगों को लेकर आजाद अध्यापक शिक्षक संघ ने उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से परेड चौराहा गोल मार्केट बजरिया लहार चुंगी होते हुए आज रैली (Rally) निकाली। साथ ही कलेक्टर कार्यालय पहुंच प्रदेश के मुखिया के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन मे उन्होंने सरकार पर शिक्षकों की मांगे को लेकर उदासीनता का आरोप लगाया और मांगें पूरी होने तक चरणबद्ध तरीके से आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया।

यह भी पढ़ें…पुलिस मौजूदगी में तस्कर बाबू सिंधी ने बंदूक से काटा केक, अब एसपी ने तत्काल टीआई को किया लाइन अटैच

शिक्षकों की मांग है कि नई पेंशन योजना अव्यावहारिक है। ऐसे में इसे समाप्त कर पहले की भांति पुरानी पेंशन योजना लागू किया जाना चाहिए। केन्द्र के समान मेंहगाई भत्ता तथा रूकी हुई क्रमोन्नत के आदेश जल्द प्रदान किये जाये। ज्ञापन में शिक्षकों ने कहा कि समान कार्य करने के बावजूद वित्तविहीन विद्यालयों के शिक्षकों का आर्थिक शोषण हो रहा है। कोरोना काल में मानदेय के नाम पर तमाम शिक्षकों को एक रुपये भी नहीं मिला है। ऐसे में वित्तविहीन शिक्षकों को पूर्णकालिक का दर्जा दिया जाय ताकि उन्हें भी समान कार्य के लिए समान वेतन मिल सके। ज्ञापन में यह स्पष्ट रूप से शासन से लिखित संकेत दिया गया है कि यदि हमारी मांगे जल्द पूरी नहीं होगी तो पूरे मध्यप्रदेश मे अनिश्चितकालीन धरना देकर अपनी मांगो पर शासन का ध्यानाकर्षण कराया जायेगा।

यह भी पढ़ें… सीहोर में अनोखा तर्पण, कोरोना काल में मृत 350 लोगों की अस्थियों का गाजे-बाजे के साथ किया विर्सजन