भोपाल| शिवराज सरकार के बहुप्रतीक्षित मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet Expansion) के बाद अब नजरें विभागों के बंटवारे पर है| जिस तरह मंत्रिमंडल में राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) का दबदबा साफ़ दिखाई दे रहा है, विभागों के बंटवारे में भी सिंधिया समर्थकों का ध्यान रखा जाना तय है| विभाग बंटवारे का एलान जल्द ही होना है, सिंधिया दिल्ली लौट गए हैं| इसलिए माना जा रहा है कि उनके जाने के बाद आज शाम या कल विभागों का वितरण कर दिया जायेगा|

कांग्रेस से भाजपा में आये 14 पूर्व विधायकों को मंत्री बनवाने के बाद सिंधिया ने उन्हें दिए जाने वाले विभागों को लेकर भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अवगत करा दिया है| सिंधिया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बीच मंत्रिमंडल विस्तार के बाद से लगातार चर्चा हो रही है| सिंधिया की मौजूदगी में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आए 22 पूर्व विधायकों ने सीएम के साथ एक अहम बैठक की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने उपचुनाव के मद्देनजर हर पूर्व विधायकों से वन-टू-वन चर्चा की| भाजपा कार्यालय में प्रदर्शनी और वर्चुअल रैली में भी सिंधिया शामिल हुए|

विभागों के बंटवारे में उपचुनाव की झलक देखने को मिल सकती है| बड़े विभाग सिंधिया खेमे में जाना तय माना जा रहा है| बचे विभागों को लेकर भाजपा में खींचतान चल रही है| वहीं मंत्रियों की योग्यता और शिवराज की पसंद से विभागों का वितरण होगा| भाजपा वित्त मंत्रालय, पीडब्ल्यूडी और अन्य बड़े विभाग अपने पास रख सकती है। वहीं जल संसाधन, खेल और अन्य विभाग सिंधिया समर्थक मंत्रियों को दिया जा सकता है। भाजपा से बड़े नेताओं गोपाल भार्गव, विजय शाह, भूपेंद्र सिंह, जगदीश देवड़ा, विजयाराजे सिंधिया को बड़े विभाग दिए जाने की चर्चा है।