विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम की साइकिल चोरी, भोपाल से रीवा का सफर तय नही कर पाई

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम की साइकिल यात्रा एक बार फिर सुर्खियों में है, यात्रा शुरू होने से पहले ही ज्यादा चर्चा में आ गई है क्योंकि विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम जिस साइकिल से यात्रा पर जाने वाले थे वो साइकिल हो चोरी हो गई है। गिरीश गौतम आज से 31 अक्टूबर तक अपने विधानसभा क्षेत्र में आठ दिवसीय साइकिल यात्रा करने वाले थे। जिस साइकिल से वे यात्रा करने वाले थे वह कल रात ही चोरी हो गई। बीजेपी के दिग्गज नेता की साइकिल चोरी होने की खबर से हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है  कि गिरीश गौतम ने यह विशेष साइकिल 32 हजार रुपए में खरीदी थी।

6 करोड़ कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, खाते में जल्द ट्रांसफर होगा पैसा, ये है नई अपडेट

बताया जा रहा है कि विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम बीते कई दिनों से बाकायदा इस साईकिल यात्रा की जोर शोर से तैयारी कर रहे थे, और भोपाल स्थित अपने आवास पर साइकिल चलाने प्रैक्टिस कर रहे थे। बताया जा रहा है कि कल रात उनकी साइकिल भोपाल से रीवा के लिए ट्रेन से भेजी गई थी। हालांकि, सुबह वह रीवा नहीं पहुंच सकी। इस मामले में फिलहाल कोई आधिकारिक रूप से शिकायत दर्ज नहीं हुई है। हालांकि, सूत्रों के मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष ने इस घटना पर नाराजगी व्यक्त करते हुए रेलवे अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई है।

Ashoknagar news : खाद कि किल्लत! लगातार चौथे दिन खाद के लिये किसानों ने लगाया जाम

विधानसभा अध्यक्ष की साइकिल चोरी होने की घटना से हड़कंप मच गया है, जीआरपी की टीम साइकिल को ढूंढने में जुटी हुई है।गिरीश गौतम की यह साइकिल यात्रा देवतालाब विधानसभा के पुरवा पड़रिया गांव से आज शुरू होनी है। खास बात यह है कि बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे। वहीं 31 अक्टूबर को यात्रा की समाप्ति सीएम शिवराज सिंह की सभा के साथ होगी। फिलहाल साईकिल ढूंढने की पुरजोर कोशिश की जा रही है। सात दिवसीय इस यात्रा के दौरान वे 72 गांवों का भ्रमण करेंगे। यात्रा के दौरान जहां सूर्यास्त हो जाएगा, वे उसी गांव में आम लोगों के बीच रात्रि विश्राम करेंगे। यात्रा का मुख्य उद्देश्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी जन मानस तक पहुंचाना है। यात्रा के जरिए लोगों को योजनाओं की जानकारी दी जाएगी, ताकि वे अधिक से अधिक लाभ ले सकें। यात्रा के दौरान बतौर अध्यक्ष को मिलने वाला कोई प्रोटोकॉल नहीं होगा, सिवाय सुरक्षा के।