शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान- छत्तीसगढ़ से सामान्य आवाजाही बन्द करने पर विचार

सीएम शिवराज सिंह चौहान
cabinet meeting

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  (CM Shivraj Singh Chauhan) का बड़ा बयान सामने आया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा अधिक संक्रमित सीमावर्ती प्रांतों से सामान्य आवाजाही रोकने पर विचार किया जा रहा है। महाराष्ट्र (Maharashtra) के बाद छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के मामले अधिक आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश आने वाले लोगों की सामान्य आवाजाही बंद करने पर विचार किया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह झाला का निधन, भावुक हुए पूर्व सीएम, पीएम ने भी जताया शोक

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इन राज्यों से आवश्यक कार्यों से आने-जाने वालों पर प्रतिबंध नहीं होगा, लेकिन उनकी चिकित्सा जाँच के बाद उन्हें आइसोलेशन में रखने की व्यवस्था होगी। यह संक्रमण रोकने में मददगार उपाय होगा।  कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जन- जागरूकता का कार्य निरंतर कर रहे हैं। इस क्रम में वे 5 अप्रैल को भोपाल (Bhopal) शहर की सड़कों पर वाहन से निकल कर उद्घोषणा करते हुए आमजन को फेस मास्क (Mask) के उपयोग का आह्वान करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य सरकार (MP Government) कोरोना को काबू में करने के लिए तीन मोर्चों पर सक्रिय है। सबसे महत्वपूर्ण आम जनता द्वारा फेस मास्क का उपयोग, दूसरा सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का समुचित पालन और तीसरा बेहतर उपचार व्यवस्था और टीकाकरण। मुख्यमंत्री ने बताया कि वे प्रतिदिन इन सभी कार्यों की समीक्षा भी कर रहे हैं। यह मानवता पर आया संकट है जिससे मिलकर ही लड़ा जा सकता है।

यह भी पढ़े.. पूर्व मंत्री का हार्ट अटैक से निधन, नही होगा अंतिम संस्कार, पूर्व सीएम ने रद्द की प्रेस कॉन्फ्रेंस

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आम जनता को भी इस लड़ाई में जुड़ना पड़ेगा। कोरोना का बढ़ता संक्रमण एक चुनौती है। इससे निपटने के लिए आम जनता का उत्साह बढ़ाएंगे। जो व्यक्ति फेस मास्क का उपयोग कर रहे हैं उन्हें प्रोत्साहित करेंगे और जो फेस मास्क का उपयोग नहीं कर रहे उन्हें समझाने का प्रयास होगा। संक्रमण रूकने तक इन उपायों पर अमल जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वे लम्बा लॉकडाउन (Lockdown 2021) नहीं चाहते। वर्तमान में जिन नगरों में रविवार को लॉकडाउन की व्यवस्था है, वह जारी रहेगी। छिंदवाड़ा और बैतूल जिले जहाँ संक्रमण अधिक है वहाँ दो अथवा तीन दिन का लॉकडाउन किया गया है। पूरे प्रदेश में लॉकडाउन लागू नहीं होगा। जैसे “मास्क नहीं तो बात नहीं” और “मास्क नहीं तो सामान नहीं” का पालन उपभोक्ता और दुकानदार दोनों ही करेंगे और मास्क के माध्यम से संक्रमण को रोकने के इस महत्वपूर्ण उपाय का महत्व लोगों को बताया जाएगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राजनीतिक दलों (Political Parties) और सामाजिक संगठनों का कोरोना संक्रमण को समाप्त करने में सहयोग लेने के लिए आव्हान किया गया है। प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस (Congress) सहित अन्य दल आम जनता के हित में संक्रमण को रोकने में सहयोगी बनें और जन- जागरण अभियान में भागीदारी करें। उन्हें विश्वास है कि नागरिक आत्मानुशासन से सुरक्षित रहेंगे। कोरोना को नियंत्रित करेंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश (MP) में वैक्सीन (Vaccine) की कोई कमी नहीं है। भारत सरकार (Indian Government) से पर्याप्त डोज प्राप्त हुए हैं। कुछ जिलों ने वैक्सीनेशन (Vaccination) के लक्ष्य में डेढ़ गुना और दो गुना उपलब्धि अर्जित कर दिखाई है। जिलों में आवश्यक व्यवस्था और कोविड केयर सेंटर भी कार्य करते रहेंगे। निश्चित ही हम मिले-जुले प्रयासों से विजयी होंगे और कोरोना परास्त हो जाएगा।

बता दे कि पिछले 24 घंटे में रिकार्ड 3178 नए केस मिले हैं और 11 की मौत भी हुई है।इसके बाद प्रदेश में एक्टिव केस 21335 हो गए हैं। इंदौर में 737, भोपाल में 526, जबलपुर में 224 और ग्वालियर में 120 नए संक्रमित मिले हैं। वही प्रदेश में 20 से अधिक केस वाले शहरों की संख्या अब 32 हो चुकी है।