MP में नहीं होगा IIFA अवार्ड का आयोजन, CM शिवराज बोले-ऐसे तमाशे की जरूरत नहीं

पूर्व की सरकार ने लिया था इंदौर में आईफा अवार्ड का आयोजन कराने का फैसला, कमलनाथ बोले-जिन्होंने 15 वर्ष सिर्फ तमाशा किया वो आईफ़ा के आयोजन को तमाशा बता रहे हैं

iifa-indore-cancel

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने साफ़ कर दिया है कि राज्य में आईफा अवॉर्ड (IIFA Award) समारोह नहीं होगा| सीएम ने शुक्रवार को कहा कि मुझे ऐसे तमाशे पसंद नहीं हैं। कोरोना का संक्रमण फैला हुआ है। ऐसे में आईफा जैसे तमाशे की मध्य प्रदेश में कोई जरूरत नहीं है। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवराज जी जिन्होंने 15 वर्ष सिर्फ तमाशा किया वो आईफ़ा के आयोजन को तमाशा बता रहे हैं|

दरअसल, कांग्रेस सरकार के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर में आईफा के आयोजन का फैसला लिया था। इसको लेकर जोर-शोर से तैयारियां भी शुरू हो गई थी, लेकिन इसी दौरान कोरोना के खतरे को देखते हुए इस आयोजन को स्थगित कर दिया गया और कांग्रेस की सत्ता चली गई| भाजपा लगातार कमलनाथ पर यह कहकर निशाना साधती रही है कि जब कोरोना को नियनत्रण करना था तब कमलनाथ आईफा अवार्ड के आयोजन की तैयारियों में व्यस्त थे|

शिवराज बोले- तमाशे की जरुरत नहीं
इस बीच अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्पष्ट कहा है कि ऐसे तमाशे की अभी जरुरत नहीं है| सीएम ने यह भी कहा कि उन्हें आईफा के नाम पर उद्योगपतियों से पैसे लिए जाने की जानकारी मिली है। सरकार इसके बारे में पता लगाएगी।

कमलनाथ ने किया पलटवार
इधर, कमलनाथ ने सरकार पर निशान साधा, उन्होंने कहा कि शिवराज जी के राज में प्रदेश की पहचान माफियाओं से थी मिलावट खोरो से थी, उनको तो ऐसे आयोजन तमाशे ही लगेंगे| उन्होंने कहा कि शिवराज जी इतना झूठ बोलते हैं कि झूठ भी शर्मा जाए, कभी कहते हैं कि आईफा के लिए हमारी सरकार ने पैसे का आवंटन किया | जबकि हमने आईफा के लिए एक रुपए का भी ना बजट में कोई प्रावधान किया और ना ही कोई आवंटन किया|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here