MP Assembly Bye Election: चुनाव आयोग ने अमरवाड़ा विधानसभा के लिए उप चुनाव की तारीख घोषित की

विधानसभा चुनाव 2023 में छिंदवाड़ा जिले की अमरवाड़ा विधानसभा सीट से चुनकर आये कांग्रेस विधायक कमलेश शाह ने लोकसभा चुनाव के समय विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र देकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली थी।

Election

MP Assembly Bye Election: लोकसभा चुनाव समाप्त हुए अभी थोड़ा ही समय हुआ है लेकिन भारत  निर्वाचन आयोग विधानसभा उप चुनावों में व्यस्त हो गया है, चुनाव आयोग ने 7 राज्यों की 13 विधान सभा के लिए उप चुनाव की घोषणा कर दी है इसमें मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले की अमरवाड़ा विधान सभा सीट भी शामिल है जहाँ से कांग्रेस विधायक कमलेश शाह ने लोकसभा चुनाव के दौरान इस्तीफा दे दिया था।

10 जुलाई को अमरवाड़ा विधानसभा में होगा मतदान  

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले की अमरवाड़ा विधानसभा सीट के लिए निर्वाचन आयोग ने उपचुनाव को घोषणा कर दी है, यहाँ 10 जुलाई को मतदान होगा। चुनाव आयोग ने इसके लिए आज सोमवार को विस्तृत कार्यक्रम घोषित कर दिया। आयोग के मुताबिक 14 जून को चुनाव की अधिसूचना जारी होगी और इसी दिन से नामांकन पत्र स्वीकार करने की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी।

21 जून तक स्वीकार होंगे नामांकन फॉर्म  

चुनाव आयोग के कार्यक्रम के अनुसार 21 जून तक नामांकन पत्र स्वीकार किए जाएंगे। 24 जून को नामांकन पत्रों की जाँच होगी और 26 जून तक नामांकन वापस लिए जा सकेंगे। 10 जुलाई को मतदान होगा, वोटों की गिनती 13 जुलाई की होगी। ध्यान रहे चुनाव की घोषणा के साथ ही जहां उपचुनाव है, उससे संबंधित जिले में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

कांग्रेस विधायक कमलेश शाह के इस्तीफे से खाली हुई है सीट 

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव 2023 में छिंदवाड़ा जिले की अमरवाड़ा विधानसभा सीट से चुनकर आये कांग्रेस विधायक कमलेश शाह ने लोकसभा चुनाव के समय विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र देकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। त्याग-पत्र स्वीकार कर विधानसभा सचिवालय ने सीट रिक्त होने की सूचना चुनाव आयोग को भेजी थी।

MP Assembly Bye Election: चुनाव आयोग ने अमरवाड़ा विधानसभा के लिए उप चुनाव की तारीख घोषित की

MP Assembly Bye Election: चुनाव आयोग ने अमरवाड़ा विधानसभा के लिए उप चुनाव की तारीख घोषित की


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News