MP School : विद्यार्थियों को मिलेगी छात्रवृत्ति, स्कूल शिक्षा मंत्री ने दिए ये निर्देश

Atul Saxena
Published on -

MP School : मप्र में संस्कृत भाषा के प्रति रुचि रखने वाले और इसे एक भाषा के रूप में अपने कोर्स में शामिल करने वाले विद्यार्थियों के लिए ये अच्छी खबर है। केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय ने ऐसे विद्यार्थियों के लिए छात्रवृत्ति की अधिसूचना जारी कर दी है। मप्र के स्कूल शिक्षा मंत्री इन्दर सिंह परमार ने इस अधिसूचना के आधार पर प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को इस आशय के निर्देश जारी किये हैं।

शिक्षा मंत्रालय चलाता है छात्रवृत्ति योजना 

संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने और विद्यार्थियों में इसके प्रति रुचि बढ़ाने के उद्देश्य से भारत सरकार का शिक्षा मंत्रालय विशेष छात्रवृत्ति योजना चलाता है, इस योजना को केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय नईदिल्ली क्रियान्वित करता है और छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान करता है।

केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय नईदिल्ली ने जारी की अधिसूचना 

संस्कृत विश्वविद्यालय ने वित्तीय वर्ष  2023-24 के लिए छात्रवृत्ति देने की अधिसूचना जारी कर दी है, इसके लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गए हैं।  ऑनलाइन पंजीयन 10 जुलाई से शुरू हो चुके हैं, इस अधिसूचना के आधार पर मप्र के स्कूल शिक्षा मंत्री इन्दर सिंह परमार ने प्रदेश के जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किये हैं।

एमपी के स्कूल शिक्षा मंत्री ने डीईओ को दिए निर्देश  

शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आपके जिले के समस्त हाई स्कूल/हायर सेकेंडरी स्कूलों में संलग्न केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय की अधिसूचना भेजी जाकर अधिकाधिक विद्यार्थियों के आवेदन पत्र भरवाया जाना सुनिश्चित करें ताकि प्रदेश के विद्यालयों में अध्ययन करने वाले छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति प्राप्त हो सके।

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News