धार्मिक स्थलों के खुलने से पहले मंदिरों में सैनिटाइजर का विरोध

229

भोपाल| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 8 जून से सभी धार्मिक स्थल (Religious Place) खुलने जा रहे हैं| सरकार ने सभी तैयारियां कर ली है| इसके लिए गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। गाइडलाइन (Guideline) के मुताबिक धार्मिक स्थल में सैनिटाइजर मशीन (Sanitizer Machine) लगाई जाएगी, तभी श्रद्धालुओं को प्रवेश मिलेगा। इसको लेकर कुछ संस्थाओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है|

भोपाल में माँ वैष्णवधाम नव दुर्गा मंदिर के पुजारी चंद्रशेखर तिवारी ने कहा,’शासन का कार्य है गाइडलाइन जारी करना लेकिन मैं मंदिरों में सैनिटाइज़र मशीन के विरोध में हूं क्योंकि इसमें अल्कोहल होता है। इससे हाथ में लेने के बाद मंदिर में प्रवेश करना भारतीय संस्कृति के अनुसार सही नहीं है। इस संबंध में वे गृहमंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे, ताकि मंदिरों में सैनिटाइजर का उपयोग न हो।

उनका कहना है की हम जब हम सामान्य स्थिति में भी शराब पीकर मंदिर व अन्य धार्मिक स्थलों में प्रवेश नहीं करते हैं तो सैनिटाइजर लगाकर कैसे घुस सकते हैं। आप हाथ धोने की मशीन सभी मंदिरों के बाहर लगाइए,वहां पर साबुन रखिए उसको हम स्वीकार करते हैं वैसे भी मंदिर में तो व्यक्ति घर से नहा कर ही प्रवेश करता है| शासन के निर्देश अनुसार, मंदिर में प्रसाद का वितरण नहीं किया जाएगा। तिवारी ने कहा- शासन की इस शर्त का हम विरोध करते हैं। भगवान को रोज भोग लगता है। ऐसे में भक्त अगर प्रसाद नहीं लेंगे, तो प्रसाद का अपमान होगा। साथ ही तिवारी ने कहा कि मंदिर में भगवान की प्रतिमा को बिना हाथ धोये छूना गलत है, इसके लिए सरकार को सभी छोटे-बड़े मंदिरों में हाथ धोने की मशीनों की व्यवस्था करनी चाहिए|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here