परिवहन मंत्री गोविंद सिंह का बड़ा बयान-‘मप्र में जल्द चलेंगी यात्री बसें’

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
कोरोना वायरस के चलते महिनों से थमी यात्री बसों (Bus) के संचालन को लेकर मध्यप्रदेश (MP) के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Transport Minister Govind Singh Rajput) का बड़ा बयान सामने आया है।राजपूत ने कहा कि प्राइवेट संचालकों की बस बंद है, आज ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh) से बात हुई, ट्रांसपोर्टरों के टैक्स का मामला भी जल्द निपटाया जाएगा, टैक्स को कम किया जाएगा और ऐसी प्लानिंग की जाएगी, जिससे बसें चल सकेगी

राजपूत ने कहा कि बस बन्द है, ओवर लोडिंग हो जाती है , टैक्स माफ किया जाए। सुबह ही मुख्यमंत्री ने कहा की हल निकलेगा बस जल्दी ही चलेगी ।राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश में कमांड कंट्रोल सेंटर खोले जाएंगे। ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने को लेकर लोगों को प्रोत्साहन दिया जाएगा। बसों में अब लोकेशन पता करने के लिए ट्रैकिंग सिस्टम के तहत कमांड कंट्रोल सेंटर बनाया जा रहा है।कमान कंट्रोल सेंटर अगले माह से लागू करेगे ताकि अच्छे कुशल चालक तैयार हो।

बता दे कि बसों का संचालन यदि शुरू भी हो गया तो निर्धारित रूटों पर पहले के मुकाबले 50 फीसदी बसें ही चलेंगी। यानी जिस रूट पर 15 से 20 बसें चलती थीं उस रूट पर 10 बसें ही संचालित की जाएंगी। बसों का संचालन यदि शुरू होता है तो कुंडम, मंडला, डिंडौरी रूट के यात्रियों को काफी हद तक राहत मिलेगी। इसके अलावा कटनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, सागर, दमोह तक आना-जाना सुविधाजनक हो जाएगा। क्योंकि कोरोना संक्रमण के चलते ट्रेनों का संचालन बंद हैं।

स्वामित्व योजना से देंगे करोड़ों को मालिकाना हक -राजपूत
वही राजपूत ने कहा कि गांवों में ग्रामीणों के मकान तो है, लेकिन स्वामित्व नहीं है, राजस्व विभाग को जिम्मेदारी मिली है। स्वामित्व योजना से करोड़ों लोगों को मालिकाना हक देंगे,अधिकार मिलने पर ग्रामीणों को सुविधा मिलेगी, ऋण मिल जाएगा, मकान बिक सकेंगे, संपत्ति का बंटवारा हो जाएगा। संपत्ति विवाद नहीं होगा, सीमांकन भी अब कभी भी हो सकेगा, उसमें कोई भी सीजन बाधा नहीं डालेगा।ग्रामीणों को भूखण्ड दिए जाने पर कहा कई सालों से मकान है गांव में लोन नही मिलता पीएम और सीएम ने दो अक्टूबर को स्वामित्व योजना शुरू होगी इसके बाद राजस्व विभाग माली हक देगे शहर जैसी व्यवस्था मिलेगी लोन मिलेगा विवाद कम होगा । गाव मेसीमांकन काफी दिक्कत होती थी ।कोर पद्धति से सीमांकन सेंटीमीटर में हो जाएगा ।

कांग्रेस ने क्या किया सबको पता है-राजपूत
सज्जन सिंह वर्मा के सिंधिया पर दिए बयान पर गोविंद सिंह ने कह कांग्रेसी अभी फुर्सत में है, उसके पास कोई काम नहीं है, कांग्रेस सरकार ने क्या-क्या किया यह सबको पता है।कांग्रेस फुर्सत में है कांग्रेस मित्र अपनी भाषा शैली भूल गए है ,कांग्रेस नेताओ की भाषा अभद्र हो गई है और इसीलिये कांग्रेस शर्मिन्दा है। सिंधिया की कैलाश विजयवर्गीय से मुलाकात ना होने और रमेश मेंदोला की नाराजगी पर परिवहन मंत्री ने कहा कि कैलाश जी और मेंदोला सीनियर है कैलाश विजयवर्गीय को बंगाल जाना था, रमेश मेंदोला की नाराजगी से भी इंकार किया ।पूर्व सीएम कमलनाथ के युवाओं से संवाद पर कहा कि अगर यह पहले कर लेते तो अच्छा होता।