सोशल मीडिया पर वायरल PWD विभाग का यह आदेश फर्जी, पुलिस को जांच के निर्देश

प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग (PWD) नीरज मण्डलोई ने बताया कि कुछ शरारती तत्वों द्वारा उक्त आशय का विभागीय आदेश वायरल किया गया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से वायरल (Viral) हो रहे पदनाम परिवर्तन के आदेश को मध्य प्रदेश के लोक निर्माण विभाग (Public Works Department of Madhya Pradesh) ने पकड़ा है। विभाग ने इस आदेश को पूरी तरह से फेक और फर्जी बताया है ।वही इस संबंध में भोपाल पुलिस (Bhopal Police) को जांच के निर्देश दिए है, ताकी इसके पीछे छिपे शरारती तत्वों को पता लगाया जा सके।

यह भी पढ़े.. MP Teacher Recruitment : शिक्षक भर्ती के लिए उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, विभाग ने दिया बड़ा मौका

दरअसल, सोशल मीडिया में लोक निर्माण विभाग (PWD Department के अंतर्गत कार्यरत 20 वर्ष या उससे अधिक सेवा पूर्ण कर चुके अनुरेखक और सहायक मानचित्रकार और मानचित्रकार पदों पर कार्यरत ऐसे कर्मचारी, जिनके द्वारा मध्य प्रदेश के विश्वविद्यालय (MP College) से इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया गया है तथा 3200 रुपये या उससे अधिक ग्रेड-पे प्राप्त कर रहे हैं, उनका पदनाम उपयंत्री घोषित कर दिया गया है। इस आशय का आदेश पूर्णत: फर्जी है।

यह भी पढ़े.. Government Jobs 2021: मध्य प्रदेश में सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, इन पदों पर निकली है भर्ती

प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग (PWD) नीरज मण्डलोई ने बताया कि कुछ शरारती तत्वों द्वारा उक्त आशय का विभागीय आदेश वायरल किया गया है। इस पर उनके द्वारा संज्ञान लेते हुए लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत आने वाले सभी अधीनस्थ कार्यालयों को वस्तु-स्थिति से अवगत करा दिया गया है। सभी को निर्देशित किया गया है कि किसी व्यक्ति द्वारा इस आदेश के क्रम में कोई आवेदन प्रस्तुत किया जाता है, तो उसकी जानकारी तुरंत विभाग को उपलब्ध कराई जाये।इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक, भोपाल को प्रकरण की जाँच कर संबंधितों के विरुद्ध कार्यवाही के लिये लिखा गया है।

सोशल मीडिया पर वायरल PWD विभाग का यह आदेश फर्जी, पुलिस को जांच के निर्देश सोशल मीडिया पर वायरल PWD विभाग का यह आदेश फर्जी, पुलिस को जांच के निर्देश सोशल मीडिया पर वायरल PWD विभाग का यह आदेश फर्जी, पुलिस को जांच के निर्देश