MP News : वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक के निधन पर भावुक हुए दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह कहा कि श्याम होलानी के निधन से प्रदेश कांग्रेस को और मुझे बहुत बड़ी क्षति हुई है, जिसकी पूर्ति असंभव है।

दिग्विजय सिंह

बागली, सोमेश उपाध्याय। मंगलवार शाम पूर्व सीएम और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) बागली विधानसभा (Bagli Assembly) के कांटाफोड़ पहुँचे और अपने समर्थक रहे प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक श्याम होलानी (Former MLA Shyam Holani)  के निधन पर परिजनों से मुलाक़ात कर होलानी के पुत्र मनोज होलानी को ढाँढस बंधाया।

MP News : कांग्रेस के पूर्व विधायक का निधन, पार्टी में शोक लहर, भावुक हुए पूर्व मंत्री

होलानी को याद करते हुए दिग्विजय सिंह भावुक दिखे। उन्होंने कहा कि श्याम होलानी के निधन से प्रदेश कांग्रेस को और मुझे बहुत बड़ी क्षति हुई है, जिसकी पूर्ति असंभव है। उन्होंने कहा कि होलानी कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता थे। उन्होंने कांग्रेस को बागली विधानसभा में मजबूती प्रदान की और कांग्रेस के विधायक बने थे।इसके साथ ही संपूर्ण क्षेत्र में विकास की गंगा बहाई थी। होलानी हमेशा हमारी यादों में बने रहेंगे।

गौरतलब है कि पूर्व विधायक होलानी का विगत दिनों ह्रदयघात से निधन हो गया था। होलानी देवास जिले में कांग्रेस के कद्दावर नेता थे।वे वर्ष 1998 में पूर्व सीएम स्व.कैलाश जोशी को अल्प मतों से पराजित कर विधानसभा (MP Vidhansabha)  पहुँचे थे और दिग्विजय सिंह के मुख्यमंत्री कार्यकाल में राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त थे। इस मौके पर पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह बघेल, अशोक कप्तान, रामेश्वर गुर्जर, महेंद्र तँवर, दिलीप गुर्जर, कमल मर्सकोले, कमल वास्केल,सागर पटेल सहित स्थानीय काँग्रेसजन मौजूद थे।

यह भी पढ़े.. Bhind News : बंद सरकारी स्कूल को शराब माफियाओं ने बनाया अड्डा, पुलिस ने दी दबिश

होलानी का ऐसा था राजनैतिक सफर

  • काँग्रेस (Congress) की राजनीति (MP Politics)  में एक मजबूत स्तम्भ थे।
  • पूर्व सीएम स्व कैलाश जोशी (Kailash Joshi) के सामने चुनाव लड़ा, परन्तु केवल एक बार ही सन 1998 में महज 401 वोटो से जीत पाए।
  • बागली विधानसभा में स्व. जोशी को पराजित करने वाले वे इकलौते नेता बने।
  • सन 2003 में स्व.जोशी के पुत्र दीपक जोशी (Deepak Joshi) से पराजित ।
  • होलानी पूर्व सीएम और वर्तमान राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के खास समर्थक माने जाते थे।
  • वे कांग्रेस शासन (Congress Government) में भंडार गृह निगम के चेयरमैन भी रहे है।