परिवहन मंत्री ने बस का किराया बढ़ाने की बात कही, बस ऑपरेटर बोले- हमें जानकारी नहीं, बैठक कर तय होगा किराया

डेस्क रिपोर्ट,भोपाल। देश में महंगाई बढ़ रही है। आप हर रोज पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम आपकी जेब पर भोज डाल रहा होगा। ऐसे में मध्यप्रदेश में 1 मार्च से बसों का किराया बढ़ाने वाला है। इसके संबंध में 25 फरवरी को परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने ऐलान किया था। साथ ही उन्होंन बताया है कि बस ऑपरेटर और जनता की सहमति से रेट तय किए जाएंगे। इस बारे में जब बस ऑपरेटर एसोसिएशन के पदाधिकारियों से बात की तो उनका कहना है कि पदाधिकारियों को बुलाना तो दूर, अब तक उन्हें इस बारे में जानकारी तक नहीं दी गई है।

रविवार को मध्यप्रदेश बस ऑपरेटर एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने कहा कि हमारी प्रस्तावित हड़ताल के एक दिन पहले परिवहन मंत्री ने किराया बढ़ाने का ऐलान किया था। यह हड़ताल को रोकने की साजिश लग रही है। अब तक हमें न तो किराया बढ़ाने के संबंध में जानकारी दी गई और ना ही किसी बैठक में बुलाया गया, जबकि 1 मार्च से किराया बढ़ाने का परिहवन मंत्री ने ऐलान किया है। फिर भी हम सरकार को समय देंगे। इसके बाद एक दो दिन में एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर आगे की रणनीति तय करेंगे।

6 महीने पहले हो चूकी है बैठक

गोंविद शर्मा ने बताया, 18 सितंबर को किराया बोर्ड की बैठक हो चुकी है। इसमें हमारे दो प्रतिनिधि और सरकार के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में तय हुआ था कि 50 प्रतिशत किराया बढ़ेगा। इस निर्णय की फाइल को सरकार 6 महीने अब तक दबाए बैठी थी। वहीं, विभाग के अनुसार सरकार किराया बोर्ड की पूर्व में हुई बैठक के अनुसार ही किराया बढ़ाने का निर्णय ले सकती है। बता दें कि मामले में परिवहन विभाग का कोई भी अधिकारी कुछ भी कहने को तैयार नहीं है।

25 प्रतिशत बढ़ोतरी होगी तो करेंगे फैसला स्वीकार
बता दें कि राज्या सरकार बसों के किराए में 15 से 25 प्रतिशत बढ़ोतरी करने की तैयारी कर रही है। इस बात पर अभी सुलह नहीं हो पाई है क्योंकि बस ऑपरेटर एसोसिएशन चाहता है बस के किराए में 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी ,तो वह इसका स्वागत करेंगे। उनका कहना है कि डीजल के रेट में ही 25 से 26 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो गई है। किराए में 25 प्रतिशत से कम बढ़ोतरी मंजूर नहीं।

ये भी पढ़े-लॉकडाउन में सोशल मीडिया पर की दोस्ती, मिलने बुलाया और फिर ब्लेड से कटवाकर लिखवाया अपना नाम

क्या कहना था परिवहन मंत्री का
दरअसल बस ऑपरेटर एसोसिएशन ने किराया बढ़ाने की मांग को लेकर 26 और 27 फरवरी को हड़ताल का ऐलान किया था। जबकि इसके एक दिन पहले ही परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने 1 मार्च से बसों का किराया बढ़ाने की घोषणा कर दी थी। मंत्री ने बताया था कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ बैठक के बाद इस संबंध में निर्णय लिया गया है। किराया कितना बढ़ेगा, अभी यह तय नहीं है। राजपूत ने कहा था कि बस संचालक और यात्रियों की सहमति से किराया तय किया जाएगा। जिसके बाद ही मध्यप्रदेश बस ऑपरेटरों ने भी सरकार के आश्वासन के बाद हड़ताल को वापस ले ली थी। ​​​​​