अच्छी खबर: रिक्शा चालक की सजगता से बची मासूम की जिंदगी, पुलिस ने किया सम्मानित

पुलिस ने लोगों से अपील की है कि यदि इसी तरह से लोग सजग रहें और पुलिस को सूचित करें तो कई वारदातों को रोका जा सकता है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे।  महज चार की साल की मासूम बेटी (innocent girl) पर एक सिरफिरे की नजरें ऐसी पड़ी कि उसने उसका अपहरण करने की ठान ली लेकिन एक रिक्शा चालक (Rickshaw Driver)  की सजगता के चलते मासूम बेटी को बचा लिया गया और आरोपी के मंसूबों पर पानी फिर गया। अब आरोपी पुलिस (Indore Police)  की गिरफ्त में है और रिक्शा चालक की सजगता और होशियारी के चलते उसका सम्मान किया गया है ।

घटना इंदौर के विजय नगर थाना क्षेत्र के रोबोट चौराहा के पास की है। जहां आदतन तौर पर बुरी नियत रखने वाले एक 23 वर्षीय युवक ने खेल रही चार साल की मासूम का अपहरण कर उसे कहीं ले जाने की योजना बनाई। घटना, शुक्रवार शाम की बताई जा रही है, युवक बच्ची को अपने साथ ले जाने लगा, इसी दौरान एक रिक्शा चालक मौके से गुजर रहा था और जब उसने युवक को बच्ची को ले जाते देखा और युवक के इरादों पर जब उसे शक हुआ तो उसने तत्काल पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर बच्ची का रेस्क्यू कर उसे उसके परिजनों तक पहुंचाया।

ये भी पढ़ें – MP Weather: मप्र का अचानक बदला मौसम, आज इन जिलों में बारिश के आसार

एडिशनल एसपी राजेश रघुवंशी के मुताबिक घटना के वक्त रिक्शा चालक दिलीप पंवार गुजर रहा था और उसी दौरान उसने आरोपी के बुरे इरादों को भांपते हुए पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर बच्ची के रेस्क्यू ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया। पुलिस की माने तो 23 वर्ष युवक आवारा है और नशे का आदी है।  उसकी इन्ही हरकतों की वजह से उसके घरवालों ने भी उसे घर से बाहर निकाल दिया है।

अच्छी खबर: रिक्शा चालक की सजगता से बची मासूम की जिंदगी, पुलिस ने किया सम्मानित

ये भी पढ़ें – Gwalior News : शहर को खूबसूरत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है “वॉल आर्ट”

पुलिस ने मामले की गम्भीरता को देखने के साथ ही जांच और पूछताछ के बाद आरोपी युवक के खिलाफ पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। इधर, पुलिस ने सजग रिक्शा चालक को सम्मानित कर लोगों से अपील की है कि यदि इसी तरह से लोग सजग रहें और पुलिस को सूचित करें तो कई वारदातों को रोका जा सकता है।