VIDEO: मंत्रीजी… यहां तो समय का ख्याल रखना था!

अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए कांग्रेस के विधायक जयवर्धन सिंह पहुंच गए थे।

गुना, संदीप दीक्षित। गुना में शिकारियों के साथ हुई मुठभेड़ में शहीद हुए प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव का अंतिम संस्कार गुना में किया गया। उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए प्रभारी मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर आए तो लेकिन तय वक्त से देर मे। अंतिम संस्कार के समय कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह मौजूद थे।

यह भी पढ़े.. CG Board 2022: 10वीं-12वीं के नतीजे जारी, टॉपर्स को लेकर CM ने की बड़ी घोषणा, जल्द मिलेगा लाभ

शनिवार का दिन मध्य प्रदेश की पुलिस के साथ-साथ प्रदेश की आम जनता के लिए भी दुख भरी खबर लेकर आया। हिरण और मोर का शिकार कर रहे शिकारियों के साथ मुठभेड़ में मध्य प्रदेश पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर, एक प्रधान आरक्षक और एक आरक्षक वीरगति को प्राप्त हुए। घटना की सूचना मिलते ही प्रदेश सरकार सक्रिय हुई और मुख्यमंत्री ने उच्चस्तरीय बैठक बुलाई जिसमें शहीदों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए, शासकीय नौकरी सहित सभी सहायता देने की बात की गई।

मुख्यमंत्री ने तीनों मृतक पुलिस परिजनों के अंतिम संस्कार में प्रभारी मंत्रियों को शामिल होने के निर्देश दिए। इनमें से एक प्रधान आरक्षक नीरज भार्गव का अंतिम संस्कार गुना स्थित श्रीराम मुक्तिधाम में सम्मान के साथ किया गया। लेकिन गुना के प्रभारी मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर अंतिम संस्कार होने के बाद मुक्तिधाम में पहुंचे। अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए कांग्रेस के विधायक जयवर्धन सिंह पहुंच गए थे।

यह भी पढ़े.. MP: 16 मई से बदलेगा मौसम, एक्टिव होगा नया पश्चिमी विक्षोभ, लू का रेड अलर्ट, 15 जून तक मानसून की दस्तक!

उन्होंने परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढाढंस से दिया। प्रधुम्न सिंह तोमर से जब संवाददाताओं ने उनके देर से आने का सवाल पूछा तो उन्होंने उसे टालने की कोशिश की और इतना कहा कि मैं ग्वालियर से अंतिम संस्कार में शामिल होने आया हूं। ग्वालियर से गुना की सड़क मार्ग से दूरी लगभग 3.30 घंटा है। अब मंत्री जी को यह दूरी तय करने में भी इतना समय लग गया कि अंतिम संस्कार के पहले मौके पर नहीं पहुंच पाए।