Dabra News: दो महीने से लापता बेटी के मिलने की आस में दर दर भटक रहा पिता, जताई हत्या की आशंका, पुलिस पर लगाये गंभीर आरोप

परेशान पिता मोहर सिंह ने कहा कि वे इन दो महीनों में डबरा SDOP, एडिशनल एसपी, एसपी सबके दरवाजे हो आये लेकिन कहीं से मदद नहीं मिली उन्होंने कहा कि डबरा निवासी पूर्व गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, पूर्व महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी से भी उन्होंने निवेदन किया लेकिन सभी जगह सिर्फ आश्वासन ही मिला सिमरन नहीं मिल पाई। 

SDOP Dabra

Dabra News : बेटियों को लेकर हमारी सरकार, हमारी पुलिस, हमारे राजनेता कितने संजीदा हैं इसका एक उदाहरण ग्वालियर जिले के डबरा ब्लाक से सामने आया है, एक पिता की 18 साल दो महीने की बेटी पिछले महीने 5 अप्रैल से गायब है और आज 53 दिन बाद भी उसका कोई सुराग नहीं है, पुलिस अपने तरीके से तहकीकात कर रही है लेकिन पिता का दिल बैठा जा रहा है, उसने पुलिस को संदेही युवक का नाम भी बताया है और अब उसे बेटी की हत्या की आशंका सता रही है, पिता पुलिस के आला अधिकारियों से लेकर डबरा निवासी दो पूर्व मंत्रियों से भी मिल चुका लेकिन नतीजा अभी वहीं का वहीं है, हालाँकि पुलिस का कहना हैं कि वे साक्ष्य इकट्ठा कर रहे हैं जल्दी ही नवयुवती मिल जाएगी।

माता पिता घर पर नहीं थे, घर से गायब हो गई सिमरन  

डबरा ब्लाक एक पीछे थाने के बडैरा बुजुर्ग गाँव में रहने वाले मोहर सिंह रजक पिछले करीब दो महीने से बेटी के लिए परेशान हैं, उनका कहना है कि वे 5 अप्रैल को पत्नी के साथ ग्राम गुठीना में रिश्तेदारी में गए थे घर पर बेटा दीपक, अरविंद और बेटी सिमरन थे, तीनों बच्चे रात को खाना खाकर सो गए, सुबह जब उठे तो सिमरन गायब थी, दीपक और अरविंद ने यहाँ वहां देखा और जब बहन नहीं मिली तो पिता को फोन पर जानकारी दी।

पिता ने पिछोर थाने में दर्ज कराई गुमशुदगी  

बेटी के गायब होने की जानकारी म्मिलते ही वे फ़ौरन गाँव वापस आये, उन्होंने आसपास गाँव में पूछताछ की फिर पिछोर थाने पहुंचकर  थाना प्रभारी बलविंदर ढिल्लन को घटना बताई जिसके बाद थाना प्रभारी ढिल्लन ने सिमरन की गुमशुदी दर्ज कर ली लेकिन आज 53 दी होने बाद पिछोर पुलिस सिमरन को खोज नहीं पाई।

पीड़ित पिता ने गाँव के ही एक युवक पर भगा ले जाने के आरोप लगाये, हत्या की आशंका जताई  

मीडिया से बात करते हुए पीड़ित पिता ने कहा कि पुलिस के पास जाने पर सिर्फ आश्वासन ही मिलता हैं, मुझे नहीं पता कि मैं अपनी सिमरन से कभी मिल भी पाऊंगा, उन्होंने आरोप लगाया कि गाँव में ही रहने वाला अभिषेक बघेल उनकी सिमरन को शादी का झांसा देकर लेकर गया है और उन्हें शक है कि उसने सिमरन की हत्या कर दी है, मोहर सिंह ने पिछोर थाने के एक संदिग्ध के सजातीय एसआई पर उसको बचाने के आरोप भी लगाये हैं।

पुलिस के आला अफसरों सहित नेताओं एक दरवाजे गया पिता, सिर्फ आश्वासन मिला  

परेशान पिता मोहर सिंह ने कहा कि वे इन दो महीनों में डबरा SDOP, एडिशनल एसपी, एसपी सबके दरवाजे हो आये लेकिन कहीं से मदद नहीं मिली उन्होंने कहा कि डबरा निवासी पूर्व गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, पूर्व महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी से भी उन्होंने निवेदन किया लेकिन सभी जगह सिर्फ आश्वासन ही मिला सिमरन नहीं मिल पाई।

पुलिस का कहना संदिग्ध के परिजनों के बयान हो गए, कई बिन्दुओं पर चल रही जाँच  

उधर डबरा SDOP विवेक शर्मा का कहना है कि थाने में गुमशुदगी दर्ज है, लड़की के पिता ने एक संदिग्ध का नाम भी बताया है उसके परिवार के भी बयान लिए हैं और रिश्तेदारों से भी बात की गई है, इस मामले में तकनीकी साक्ष्य भी जुटा पा रहे हैं, उन्होंने कहा तफ्तीश में पता चला है कि लड़की अपने साथ अपने डोक्युमेन्ट्स भी लेकर गई है और वो किसी के साथ गई है, पुलिस सभी बिन्दुओं पर जाँच कर रही है उम्मीद है जल्दी ही लड़की मिल जाएगी।

डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News