गिरोह का खुलासा, दिखाते थे नौकरी के सपने, भारी मात्रा में नकली पैन कार्ड, आधार कार्ड जब्त 

आरोपी बहुत शातिर हैं , ऑनलाइन ठगी के मास्टरमाइंड हैं, आरोपियों ने बैंकों में भी ठगी की बात स्वीकार की है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर की साइबर क्राइम ब्रांच पुलिस (Gwalior Police) ने एक ऐसे गिरोह(Gang) का पर्दाफाश किया है जो बेरोजगारों की मज़बूरी का फायदा उठाकर उनको नकली दस्तावेजों के सहारे नौकरी के सपने दिखाते थे और उनके साथ ठगी करते थे।  पुलिस ने गिरोह की तीनों सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पास से भारी मात्रा में नकली आधार कार्ड, पैन कार्ड, मोबाइल सिम और अन्य सामान मिला है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

गिरोह का खुलासा, दिखाते थे नौकरी के सपने, भारी मात्रा में नकली पैन कार्ड, आधार कार्ड जब्त 

 

एसपी अमित सांघी ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी की शहर में कुछ लोग फर्जी दस्तावेज तैयार कर लोगों को नौकरी के नाम पर ठग रहे हैं। सूचना की तस्दीक के लिए मुखबिर द्वारा बताए गए  एड्रेस सैनिक कॉलोनी, बंशीराम मार्केट फ्लैट नंबर एक पर एक पुलिसकर्मी को आवेदक बनाकर भेजा।

ये भी पढ़ें – जब सिक्कों से भरा बोरा लेकर जा पहुंचा युवक स्कूटी के शोरूम

पुलिस टीम के सदस्य ने कहा कि मुझे नौकरी की जरुरत है लेकिन मेरे पास पैन कार्ड, आधार कार्ड जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेज नहीं हैं।  ठग गिरोह के लोगों ने कहा कि वो हम सब बनवा देंगे उसका अलग से चार्ज लगेगा आपकी नैकरी लग जाएगी।  जानकारी हासिल करने के बाद टीम के सदस्य ने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी।

ये भी पढ़ें – MP Weather : 2 दिन बाद बदलेगा मौसम, प्रदेश में बढ़ेगी ठंड, शीतलहर चलने के आसार

सूचना मिलते ही , सीएसपी , टीआई दलबल के साथ बंशीराम मार्केट पहुँच गए और दबिश देकर गिरोह को पकड़ लिया।  पुलिस को यहाँ तीन लोग मिले जो फर्जी दस्तावेज के सहारे लोगों को नौकरी के नाम पर ठग रहे थे।  पुलिस ने जब तलाशी ली तो आरोपियों के पास से 30 सिम मोबाइल सिम, 56 ATM कार्ड, 50 आधार कार्ड, 20 पैन कार्ड दीपक ट्रेडिंग कंपनी के रजिस्ट्रेशन की प्रिंट की कॉपी, सील , 10 कीपैड मोबाइल , एपल कंपनी का लैपटॉप मय सिम मिला।  पूछताछ में आरोपियों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया।

ये भी पढ़ें – जिम्मेदारों की ये कैसी लापरवाही, कैसे रुकेगा कोरोना? 

एक आरोपी ने बताया कि वो ऑनलाइन वेबसाइट की मदद से फर्जी आधार कार्ड और पैन कार्ड बनाता है , दूसरे ने  कहा कि इन नकली पैन कार्ड और आधार कार्ड की मदद से वो बाजार से मोबाइल सिम खरीदता है और तीसरे आरोपी ने  बताया कि वो जरूरतमंद लोगों को कॉल कर उनके साथ ठगी करते हैं। तीसरे आरोपी ने ये भी बताया कि वो व्हाट्सएप पर महिला कर्मचारी बनाकर लड़कों को प्लेबॉय बनाने के नाम पर झांसे में लेकर ठगी भी करते हैं।

ये भी पढ़ें – अयोध्या में सीएम शिवराज: राम लला के दर्शन किये, पीएम मोदी के लिए कही ये बड़ी बात

एसपी ने बताया कि तीनों आरोपियों ने ये भी स्वीकार किया कि वो फर्जी पैन कार्ड, आधार कार्ड की मदद से बैंक में खाते खोलकर लोन लेकर भी ठगी करते हैं। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में नमुकद्मा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।