Indore News : अब बन्द पड़े पेट्रोल पंप पर सल्फ्यूरिक एसिड से भरे 8 टैंकर मिले

ऐसे में अब महू तहसील के अंतर्गत आने वाले सभी पेट्रोल पंप प्रशासन के निशाने पर रहेंगे।

इंदौर, आकाश धोलपुरे।  इंदौर की महू तहसील के थाना किशनगंज क्षेत्र में स्थित भैंसलाय में बंद पड़े एक पेट्रोल पंप (Petrol Pump) पर पेट्रोल के 16 टैंकर खड़े मिले। इस मामले की जानकारी जैसे ही पुलिस और प्रशासन को लगी वैसे ही सक्रियता के साथ कार्रवाई की गई। एसडीएम के औचक निरीक्षण के दौरान 16 में से 8 टैंकरों में 98 प्रतिशत सल्फ्यूरिक एसिड मिला जिसके बाद पेट्रोल पंप मालिक सहित अन्य लोगों पर अलग अलग धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

दरअसल, महू के एसडीएम अक्षत जैन को सूचना मिली थी कि भैंसलाय में एक बंद पेट्रोल पंप पर एसिड का अवैध भंडारण किया जाता है। सूचना पर एसडीएम अक्षत जैन ने थाना किशनगंज क्षेत्र के भैंसलाय स्थित बंद पड़े इंडियन आयल के पेट्रोल पंप का औचक निरीक्षण किया गया।

ये भी पढ़ें – कांग्रेस MLA का फरार बेटा हुआ 15 हजारी, भाजपा ने प्रियंका-कमलनाथ को घेरा

निरीक्षण के दौरान मौक़े पर डी.डी. एंड कम्पनी के 16 टैंकर खड़े थे जिनमें से 8 टैंकर में 98 प्रतिशत सल्फ्यूरिक एसिड (Sulfuric Acid) भरा मिला और 8 टैंकर खाली मिले। टैंकर कम्पनी के मालिक व बंद पेट्रोल पंप के मालिक द्वारा इस स्थान पर एसिड का अवैध भंडारण किया जाता है। भंडारण के लिए म.प्र. विष नियम के अंतर्गत लाइसेन्स लेना अनिवार्य है लेकिन उनके पास कोई लायसेंस नहीं था।

ये भी पढ़ें – कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, 30 दिनों के वेतन के बराबर मिलेगा बोनस, आदेश जारी

एसडीएम महू अक्षत जैन ने बताया कि कम्पनी द्वारा सल्फ्युरिक एसिड जैसे ख़तरनाक एसिड के व्यापार के लिए पेट्रोल पंप एक डिपो की तरह प्रयोग में लिया जा रहा था। जिसके चलते भारतीय विष अधिनियम एवं धारा 284, 420 भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत 16 टैंकर को ज़ब्त किया गया है। वही पेट्रोल पंप मालिक पर भी प्रकरण दर्ज कर पम्प को सील किया गया है।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : सोने में उछाल, चौथे दिन भी चांदी पुराने रेट पर, ये हैं ताजा भाव

बता दे कि हाल ही में महू क्षेत्र में पेट्रोल पंप पर छापा मार कार्रवाई के दौरान मिलावट की शिकायत मिली थी और अब ताजा मामला भी महू के किशनगंज थाना क्षेत्र से ही जुड़ा है ऐसे में अब महू तहसील के अंतर्गत आने वाले सभी पेट्रोल पंप प्रशासन के निशाने पर रहेंगे और माना जा रहा है कि आगे भी पुलिस व प्रशासन की कार्रवाई जारी रहेगी।