भय्यू जी महाराज की बेटी ने लगाए ट्रस्टियों पर संगीन आरोप, उदयसिंह देशमुख के बाद ये हाल है कुहू के !

कुहू ने बताया कि आफिस से ट्रस्ट के दस्तावेजों के संबंध में जानकारी चाही गई थी लेकिन रजिस्ट्रार ऑफिस के कर्मचारियों और एसडीएम ने भी उन्हें सहयोग नही किया और उन्हें सूचना के अधिकार के मुताबिक पूरे दस्तावेज नही दिये गये

इंदौर, आकाश धोलपुरे। भारत के एक नामी गिनामी ट्रस्ट और उस पर समय समय पर उपज रहे विवाद ये बताने के लिए काफी है कि जब आपके अपने परिवार का मुखिया इस दुनिया मे नहीं होता है तब हालातो के फायदा किस कदर लोग उठाते है। यहां हम बात कर रहे है इंदौर (Indore) के गृहस्थ संत उदयसिंह देशमुख याने भय्यू जी महाराज ( bhayyu ji maharaj ) की। जो अचानक इस दुनिया से चले गए लेकिन उनके जाने के बाद उनकी बेटी को दुनिया के द्वारा दी जा रही तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। लिहाजा, आज उनकी बेटी कुहू मीडिया के सामने आई और उसने मीडिया के सामने अपनी परेशानी भी बताई।

यह भी पढ़ें…बालाघाट जिले में अधिक से अधिक निवेश करें उद्यमी, हम देंगें सुविधायें- सीएम शिवराज

दरअसल, भय्यू जी महाराज की मौत के बाद उनकी सम्पत्ति और ट्रस्ट के दस्तावेज में भी कई प्रकार के घोटाले का आरोप उनकी बेटी कुहू ने लगाया है। कुहू ने बुधवार को ये भी बताया कि सारी गड़बड़ भय्यू महाराज के ही विश्वासपात्र लोगो के द्वारा किया जा रही है। जिस पर अब वो आपत्ति ले रही है। कुहू और उनके वकील ने उनके पिता के ट्रस्ट में कुहू के फर्जी हस्ताक्षर कर आधार कार्ड के दुरूपयोग का आरोप लगाया है। कुहू देशमुख का आरोप है कि उनकी नियुक्ति ट्रस्टी के रूप में गलत तरीके से की गई है और उन्हें इस मामले में कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। कुहू ने बताया कि उनकी बिना स्वीकृति के ही पुराने ट्रस्टियों को बाहर किया जा रहा है और नए सदस्यो को जोड़ा जा रहा है और यह काम कौन कर रहा है इसकी जानकारी उन्हें नही है।

उनके वकील ने रजिस्ट्रार कुहू ने बताया कि आफिस से ट्रस्ट के दस्तावेजों के संबंध में जानकारी चाही गई थी लेकिन रजिस्ट्रार ऑफिस के कर्मचारियों और एसडीएम ने भी उन्हें सहयोग नही किया और उन्हें सूचना के अधिकार के मुताबिक पूरे दस्तावेज नही दिये गये। बता दें कि जब भय्यू महाराज की मौत हुई थी तब कुहू नाबालिग थी। अब वह बालिग हो चुकी है और अपने पिता द्वारा खड़े किए गए ट्रस्ट को संभालना चाहती है फिलहाल कुहू पुणे में रहती है। वही अपने ननिहाल की मदद से वो अपना जीवन यापन कर रही है।

कुल मिलाकर भैय्यू जी महाराज द्वारा खड़े किए ट्रस्ट को लेकर उनकी सबसे बड़ी और पहली वारिस बेटी सवाल उठा रही है लिहाजा, अब मध्यप्रदेश हो या फिर महाराष्ट्र सरकार को कदम बढ़ाना ही होंगे नही तो सवाल तो सवाल है उठेंगे ही ?

यह भी पढ़ें…MP News : महिला हो या पुरूष, Two Wheeler पर बैठने पर हेलमेट पहनना अनिवार्य