इंदौर में दिग्विजय सिंह ने युवक कांग्रेस के शिविर में आरएसएस पर जमकर साधा निशाना

इंदौर में राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने आरएसएस पर बड़ा जुबानी हमला बोला

इंदौर, आकाश धौलपुरे। इंदौर बायपास पर आज से युवक कांग्रेस द्वारा तीन दिवसीय युवा कुंभ एवं प्रशिक्षण शिविर का आगाज किया गया। युवक कांग्रेस के आयोजन सिंहनाद के आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य युवाओ को कांग्रेस की विचारधारा से जोड़ना है। इस आयोजन में यूं तो प्रदेश कांग्रेस के कई दिग्गज नेता शामिल हुए लेकिन पूरे आयोजन के पहले दिन पूर्व सीएम और राज्यसभा सांसद दिग्विजयसिंह ही चर्चाओं में रहे।

यह भी पढ़े…अशोकनगर : ओला पीड़ित किसानों ने लगाया जाम, sdm मे लिखवाया 3 दिन मे सर्वे कर मुआवाजा देंगे

दरअसल, दिग्विजयसिंह ने युवक कांग्रेस के मंच से कई ऐसी बड़ी बातें कही है जो अब सुर्खियां बंटोर रही है। इंदौर में राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने आरएसएस पर बड़ा जुबानी हमला बोला और उन्होंने आरएसएस की तुलना दीमक से कर कहा कि आरएसएस गुपचुप तरीके से नफरत फैलाने का काम करती है। आरएसएस केवल डराने का काम करती है लेकिन युवाओ को डरना नही चाहिए। उन्होंने कहा आरएसएस का संगठन है कहा और रजिस्टर्ड संस्था कहा है यहां तक कि कई दफा उनका कोई समर्थक किसी विवाद में उलझ जाता है तो वो उसे अपना समर्थक मानने से इंकार कर देते है।

यह भी पढ़े…Corona update: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हुए कोरोना संक्रमित, ट्वीट पर जानकारी देते हुए किया यह अनुरोध

वही उन्होंने हिन्दू धर्म के खतरे वाली बात पर जोर देते इतिहास के उदाहरण दिए और कहा कि बीजेपी और संघ से जुड़े लोग हिन्दू धर्म को खतरे में बताकर राजनीतिक पदों को हासिल कर पैसा कमाते है। हिन्दू धर्म को न तो पहले कभी खतरा था, ना कभी हिन्दू धर्म खतरे में आएगा। इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस की विचारधारा के बारे में विस्तृत रूप से युवाओ को समझाया और कहा कि कांग्रेस एक ऐसी विचारधारा है जिसमे बहुत कुछ शामिल है। कांग्रेस की विचारधारा में हिंदू धर्म को न कभी खतरा हुआ है और न रहा है।

यह भी पढ़े…सागर में पीडबल्यूडी के एसडीओ को रिश्वत लेते लोकायुक्त ने रंगे हाथों पकड़ा

हिंदू धर्म इतना व्यापक है कि उसने सबको शामिल कर लिया है। इसके अलावा उन्होंने युवा कांग्रेसियों से कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगो को व्हाट्सएप ग्रुप्स से जोड़ो। इसके अलावा भी उन्होंने मीडिया के सवालों के जबाव भी दिए। जब उनसे पूछा गया कि कैलाश विजयवर्गीय ने उन्हें नाम बदलकर दिग्विजय खान करने की बात कही है तो दिग्विजयसिंह ने जबाव दिया कि ये नाम मेरे माता पिता ने दिया है कैलाश विजयवर्गीय ने नही दिया है। वही इमरती देवी खुद की हार का कारण पार्टी बदलने को मान रही है इस सवाल पर दिग्गी बोले कि उन्होंने जो कुछ कह है उसमें दम तो है वो महाराज से कहे। वही यूपी सहित अन्य राज्यो में होने वाले चुनावों पर साम्प्रदायिकता के सवाल पर उन्होंने कहा योगी जी के पास हिन्दू मुसलमान, हिंदुस्तान पाकिस्तान, कब्रस्तान श्मशान इसके अलावा भाषणो में कोई और शब्द नही सुना है। वही बीजेपी के द्वारा कांग्रेस के रिमोटली सरकार चलाने के जबाव में दिग्विजयसिंह ने कहा कि कम से कम भाजपा ये न कहे क्योंकि मोहन भागवत क्या चलाते है।