सपनों को सिद्धि में बदलने वाला शहर है इंदौर : सीएम श‍िवराज

Indore Gaurav Diwas : इंदौर गौरव दिवस पर शाम को रंगारंग कार्यक्रमों का आगाज हुआ। शहर में आज सुबह से ही अहिल्या जन्मोत्सव पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मुख्‍यमंत्री श‍िवराज सिंह चौहान भी पहुंचे। समारोह में विशिष्‍ट व्‍यक्तियों को इंदौर गौरव सम्‍मान प्रदान किया गया। इसके बाद लेजर शो का आयोजन किया गया।

सीएम श‍िवराज ने कहा कि मप्र देश की धड़कन है, लेकिन मध्‍य प्रदेश का दिल है इंदौर। उन्‍होंने कहा कि गौरव दिवस कार्यक्रम को इंदौर में सही ढंग से मनाया है। इस शहर ने परंपराओं को आगे बढ़ाया है। शहर में नशे के कारोबार पर रोक लगे, बिगड़े युवाओं को राह पर लाएं। अपराधि‍यों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम में यह कहकर सबको चौंका दिया कि इंदौर लगातार छह बार स्वच्छता में नंबर वन आया है। इस बार दूसरे शहर के लोग नंबर वन आने के लिए गंभीरता से प्रयास कर रहे हैं। हमको भी गंभीरता से प्रयास करना होंगे। हर हालत में इंदौर को स्वच्छता में फिर सातवीं बार नंबर वन बनाना है। इसके लिए सभी प्रयास करेंगे। मुझे इस काम के लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता है। नगर निगम भी इस बात का ध्यान रखें। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने देवी अहिल्या बाई की परंपरा को आगे बढ़ाया है। आप सबको गौरव दिवस की बहुत शुभकामनाएं।

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव कैलाश विजयवर्गीय ने गौरव दिवस पर मंच से कहा कि इंदौर शहर के शानदार नागरिकों को सबसे पहले गौरव दिवस की आप सबको बधाई, और साथ ही मुख्यमंत्री में भाषण नहीं देना चाहता था क्योंकि मैं जानता हूं कि लोग संगीत के मूड में हैं पर एक बात जरूर कहना चाहता हूं कि इंदौर में संस्कार और संस्कृति का एक थोड़ी सी विकृति प्रारंभ हुई है नशे के खिलाफ सबको आगाह करना चाहता हूं कि इंदौर को हमें बचाना है और इंदौर के गौरवशाली परंपरा रहे यह हम सब की जवाबदारी है इस विकृति को समाप्त करना है सामाजिक रूप से हम सबको और मुख्यमंत्री प्रशासनिक रूप से आप निर्देश देकर जाएं।
इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News