दिन-दहाड़े घर में घुसकर चोरी करने वाले आरोपी गिरफ्तार, 99 हजार का सामान जब्त

झाबुआ,विजय शर्मा। 06 सिंतबर को दिन-दहाजडे घर में घुसकर चोरी करने वाले दोनो आरोपियों को पुलिस ने मुखबीर द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही पुलिस ने आरोपियों के पास से एक जोड़ पायजेब, एक सोने की चेन, एक जोड़ ईयरिंग और 2,200/-रू. कुल 99,000 रूपए की कीमत का सामान जब्त किया है।

सोमवार को पुलिस द्वारा सूचना मिली थी कि दो सिकलीगर रायपुरिया झाबुआ तिराहे पर खड़े है। सूचना पर तत्काल कार्रवाई करते हुए थाना थांदला की पुलिस टीम द्वारा 25 साल के आरोपी सतनाम उर्फ सहनाम सिकलीगर और 20 साल के जसपाल उर्फ सोना सिकलीगर जोकि संजय कॉलोनी राजगढ़, जिला धार के रहने वाले है, उनको बडी ही सुझ-बुझ से घेरा बंदी कर पुलिस द्वारा पकडा गया। वहीं पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया। साथ ही आरोपियों के पास से 99 हजार की कीमत तक का सामान जब्त किया गया है।

MP Breaking News

दरअसल, 06 सितंबर को सुबह 10 बजे फरियादी मुस्ताक अहमद खान अपने घर के बाहर मुस्लिम गली थांदला में बैठा था। तभी दो व्यक्ति सिकलीगर ताला-चाबी बनाने वाले घर के सामने से निकले। सिकलीगर ने पुछा कि ताला-चाबी बनवाना है क्या, तो फरियादी ने दो पुराने ताले की चाबी बनवाई, उसके बाद घर के अंदर रखी गोदरेज की अलमारी का लाक खराब होने से लाक ठीक करने के लिए कहा। इसके बाद फरियादी पानी पीने के लिए घर के अंदर चला गया। जब पानी पीकर वापस आया तो दोनों व्यक्ति बोले लाक खराब हो गया है, गिरमिट से ही खुलेगा। उन्होनें बोला कि हम गिरमिट लेकर आते हैं, इसके बाद दोनों व्यक्ति सिकलीगर फरियादी के घर से चले गए। कुछ समय तक इंतजार करने के बाद जब दोनों व्यक्ति सिकलीगर नहीं आए तो फरियादी ने थांदला के कय्यूम खान को बुलाकर अलमारी का लॉक खुलवाया। लॉक खोलने के बाद देखा कि अलमारी के अंदर रखे पुश्तैनी रकमे सोने का एक हार, एक चैन, कान के इयररिंग एवं चांदी की पायजेब तथा 11,100/-रू. चुरा कर दोनों व्यक्ति ले गए। इसके बाद फरियादी ने वीडियो फुटेज में देखा कि दोनों सिकलीगर जो ताला चाबी बनवाने के लिए घर में आए थे, यह वही व्यक्ति थे जो घर से सामान चुरा कर ले गए थे। फरियादी की सूचना पर थाना थांदला की पुलिस द्वारा दोनों व्यक्ति सिकलीगर के विरुद्ध अपराध क्रमांक 369/20 धारा 380 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

बता दें कि संपूर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में प्रआर. 531 अमित, आर. 103 महेन्द्र, आर. 250 रविन्द्र, आर. 552 महेश, आर. 573 संदीप का सराहनीय योगदान रहा। उक्त टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा उद्घोषित ईनाम से पुरूस्कृत करने की घोषणा की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here