अधिकारी का अनुभव, दारु पीने वाला कभी झूठ नहीं बोलता

खंडवा, सुशील विधाणी। खंडवा के जिला आबकारी अधिकारी का अनुभव शायद आपको भी सीख दे दे। उनका कहना है कि दारू पीने के बाद व्यक्ति झूठ नहीं बोलता। दरअसल आबकारी विभाग ने खंडवा में आदेश जारी किया है कि बिना वैक्सीनेशन के किसी को शराब नहीं भेजी जाए।

अब मेट्रो से भी जुड़ेगा जनजाति गौरव, शिवराज शुक्रवार को करेंगे शुरुआत

पुलिस को पूछताछ करनी हो या एजेंसियों को, अब शायद खंडवा के इन जिला आबकारी महोदय का अनुभव जरूर प्रयोग करना चाहिए। आरपी किरार नाम के यह जिला आबकारी अधिकारी कह रहे हैं कि यह अनुभव है कि दारू पीने वाला कभी झूठ नहीं बोलता। उन्होंने यह बयान इस संदर्भ में दिया है कि जिला खंडवा में प्रशासन के आदेश पर अब वैक्सीनेशन के दोनों टीके लगवाने वाले को ही दारू बेची जाएगी। संपूर्ण वैक्सीनेशन की टारगेट को पूरा करने के लिए जिस तरह से पूरा देश और प्रदेश कमर कसे हुए हैं उसी के संदर्भ में यह आदेश भी पारित किया गया है।

अधिकारी का अनुभव, दारु पीने वाला कभी झूठ नहीं बोलता

पेट्रोल पंप पर डकैती डालने से पहले पकड़ में आई गैंग, तीन गिरफ्तार, दो लूट का भी खुलासा

आबकारी विभाग का आदेश के बाद जिले में संचालित होने वाली शराब की 56 देसी दुकानें और 19 विदेशी दुकाने बिना डोज लगवाए खरीदार को शराब नहीं देंगे। लेकिन सवाल यह है कि यह कैसे पता चले कि वैक्सीनेशन हो चुका है। आबकारी महोदय ने बताया कि उनका यह अनुभव है और यह माना जाता है कि दारु पीने वाला कभी झूठ नहीं बोलता। शराब मे सबसे ज्यादा ईमानदारी है। यानी गले के नीचे दो हलक शराब जाते ही कोई भी व्यक्ति हरिश्चंद्र हो जाता है। अधिकारी महोदय का यह तर्क गले से नहीं उतरता और यहां एक सवाल और खड़ा होता है कि जब व्यक्ति शराब खरीदने के लिए आया तो खरीदने के बाद ही पिएगा। उसके पहले वह कैसे सच बोलेगा, अपने आप में बड़ा अजीबोगरीब तर्क है।