खरगोन : वाहनों पर पत्थर फेंक लोगों में दहशत फैला रहे थे बदमाश, 3 आरोपी गिरफ्तार

ग्राम छोटी कसरावद रोड पर वाहनों पर पत्थर फेंक लोगों में दहशत फैला रहे 3 बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

खरगोन, बाबूलाल सारंग। खरगोन (Khargone) में 28 मई की रात में थाना कसरावद (Kasrawad) में सूचना प्राप्त हुई थी। कि ग्राम छोटी कसरावद से आगे रोड के मोड़ पर कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा आने जाने वाहनों पर पत्थर फेक जा रहे है। और गाड़ियों की क्षतिग्रस्त किया जा रहा है। सूचना पर पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्रवाई की गई। लेकिन कोई भी व्यक्ति पुलिस के हांथ नहीं लगा। जिसके बाद पुलिस ने टीम गठित कर आरोपियों को धरदबोचा।

यह भी पढ़ें…जबलपुर मेडिकल कॉलेज में अन्य जिलों के डॉक्टर देंगे सेवा, जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के चलते लिया निर्णय

गौरतलब है कि कसरावद थाना पुलिस को शिकायत मिली थी, कि छोटी कसरावद रोड के मोड़ पर कुछ व्यक्तियों द्वारा आने-जाने वाले वाहनों पर पत्थरबाजी की जा रही है। और वाहनों को क्षतिग्रस्त किया जा रहा है। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपराध क्रमांक 348, 336, 427, 327, 341, 34 भादवि अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। और घटनास्थल पर जाकर छानबीन की गई । लेकिन कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा। जिसके बाद इसी क्रम में 29 मई को रात्रि में फिर उसी स्थान पर आने-जाने वाले वाहनों पर पत्थर फेकने की सुचना प्राप्त हुई। वहीं घटना के संबंध में वरिष्ठ अधिकारीयो को अवगत करवाया गया। जिसे गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिंह चौहान द्वारा आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने हेतु निर्देशित किया गया। और पुलिस टीम का गठन किया गया।

पुलिस टीम द्वारा उक्त घटना के संबंध में गाँव व आस-पास में पूछताछ की गयी। और मुखबिरों को छानबीन में लगाया गया। जिस पर मुखबिर से सुचना प्राप्त हुई की ग्राम अहिल्यापुरा के रहने वाले राजकुमार व उसके दोस्त राहूल व प्रदीप उर्फ नाना के द्वारा पत्थर फेकने की घटना को अंजाम दिया गया है। जिसके बाद कार्रवाई करते हुए राजकुमार करोंदिया को पुलिस टीम द्वारा उसके घर घेराबंदी कर पकड़ा गया । राजकुमार को थाने लाकर सख्ती से पूछताछ करने पर उसने घटना अपने साथी प्रदीप उर्फ नाना उर्फ प्रभु अलावे, राहूल के साथ मिलकर करना स्वीकार किया। जिसके बाद पुलिस ने अन्य दो युवकों को भी गिरफ्तार किया। बतादें कि राहुल और प्रदीप दोनों पुलिस से बचने के लिए राहूल की बुआ के घर ग्राम पढाडा चले गये है। जिन्हें भी पुलिस टीम द्वारा घेराबंदी कर दबिश देकर पकड़ा। जिन्होंने उक्त घटना को करना स्वीकार किया गया। वहीं तीनों को पकड़ने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें…प्रेम प्रसंग के चलते युवक ने लगाई नर्मदा में छलांग, गोताखोरों ने बचाई जान