कार्यक्रम में नहीं पहुंचे किसान, खाली कुर्सियां देख भड़के केंद्रीय मंत्री, अधिकारियों की लगाई क्लास

केंद्रीय मंत्री ने आयोजक अधिकारी से कहा कि किसी भी आयोजन को सिर्फ खानापूर्ति के लिए नहीं आयोजित करना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री

मंडला, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madya pradesh) में किसानों (farmers) के लिए प्रशिक्षण (Training) मेले का आयोजन किया गया था। इसके मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री बनाए गए थे। बावजूद इसके इस प्रशिक्षण मेले में किसानों ने अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं कराई। जिससे केंद्रीय मंत्री का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुँच गया और उन्होंने प्रशिक्षण कार्यक्रम में अधिकारियों की क्लास लगा दी। इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों को जमकर फटकार भी लगाई।

दरअसल मामला मध्यप्रदेश के मंडला जिले का है। जहां पूरे अंचल के किसानों को आलू की खेती के प्रशिक्षण देने के लिए राष्ट्रीय आलू मेला और प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में पूरे अंचल के किसानों को आमंत्रित किया गया था। मुख्य अतिथि के तौर पर केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते (Faggan Singh Kulaste) खुद पधारे थे।

Read More: Suspend: SP ने थाना प्रभारी और 2 आरक्षकों को किया निलंबित, ये है पूरा मामला

बावजूद इसके केंद्रीय मंत्री का भाषण सुनने के लिए अंचल के किसान आयोजन में नहीं पहुंचे। जब केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते भाषण देने के लिए मंच पर पहुंचे तो उन्हें पंडाल में कुर्सियां खाली दिखी। जिस पर मंत्री भड़क गए। इतना ही नहीं खाली कुर्सियां देकर केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों को फटकार तक लगा दी।

केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने आयोजक अधिकारी से कहा कि किसी भी आयोजन को सिर्फ खानापूर्ति के लिए नहीं आयोजित करना चाहिए। सभी लोग यहां पर अपना अपना समय निकालकर आए हैं। अब ऐसी स्थिति में जब अंचल के किसानी मौजूद नहीं रहेंगे तो यहां पहुंचे वैज्ञानिक किससे बात करेंगे और किसे नईविधि और तकनीक की जानकारी देंगे।

इसके साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि अगली बार से किसी भी कार्यक्रम के आयोजन से पहले यह सुनिश्चित किया जाए कि इस आयोजन का असर होगा या नहीं। जिसके बाद केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते दबे पांव वापस लौट गए।