पेट्रोल पंप की तिजोरी से चोरी करते बदमाश रंगे हाथों पकड़ा, घटना सीसीटीवी में हुई कैद

सुभाष पेट्रोल पंप की खाली केबिन को देख कर एक बदमाश केबिन में घुस गया और अलमारी को तोड़कर रुपए चुराने लगा। चोर जब चोरी कर रहा था और रुपयों को बैग में भरकर भागने ही वाला था कि उसके पहले ही पेट्रोल पंप कर्मचारियों ने उसे दबोच लिया।

मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना शहर में बदमाशों के द्वारा लूट चोरी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। एक दो दिन छोड़कर कोई न कोई घटना सामने आती ही रहती है। अब मुरैना से एक ऐसा ही मामला सामने आया है। दरअसल यह घटना नेशनल हाईवे पर स्थित बैरियल के पास का पास का है। इस घटना में देखने को मिला कि सुभाष पेट्रोल पंप की खाली केबिन को देख कर एक बदमाश केबिन में घुस गया और अलमारी को तोड़कर रुपए चुराने लगा।

यह भी पढ़ें – Mandi bhav: 20 मई 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

चोर जब चोरी कर रहा था और रुपयों को बैग में भरकर भागने ही वाला था कि उसके पहले ही पेट्रोल पंप कर्मचारियों ने उसे दबोच लिया। उसके बाद पेट्रोल कर्मचारी ने पुलिस को घटना की सूचना दी। घटना की सूचना प्राप्त होते ही पुलिस बताये गए पेट्रोल पंप पर पहुंची। जहाँ पेट्रोल कर्मियों ने चोर को पुलिस के हवाले कर दिया। आपको बता दें कि चोरी की घटना पेट्रोल पंप परिसर में लगे सीसीटीवी में भी कैद हो गई।

यह भी पढ़ें – Ladyfinger Benefits: बहुत कम लोग जानते हैं भिंडी के पानी के फायदे

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की देर रात यह घटना सिविल लाइन थाने के पास और बस स्टैंड के सामने स्थित सुभाष पेट्रोल पंप पर रात 10 बजे के करीब हुई। जहाँ एक बदमाश पेट्रोल पंप के खाली चेंबर में घुस गया और तिजोरी को तोड़कर रुपयों को बैग में भरने लगा। इसी दौरान पेट्रोल पंप के कर्मचारी की नजर उस पर पड़ी। कर्मचारियों ने उसे पकड़ना चाहा तो उसने धक्का देकर भागने का प्रयास किया, लेकिन इस कोशिश में बदमाश सफल नहीं हो सका।

यह भी पढ़ें- मंगल ग्रह पर दिखने वाले रहस्यमई दरवाजे का नासा ने किया खुलासा

सूचना मिलते ही सिविल लाइन पुलिस मौके पर पहुंच गई। पेट्रोल पंप से नगदी चुराने वाले आरोपी की पहचान अंबाह के दलजीत पुरा निवासी बंटी गुर्जर के तौर पर हुई है। बंटी गुर्जर के बैग से पुलिस ने पेट्रोल पंप से चुराए 60 हजार भी जप्त कर लिए गए हैं। यह पूरी घटना पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पेट्रोल पंप कर्मचारी इस मामले में लूट का केस दर्ज कराने की मांग पर अड़े थे, तो वहीं पुलिस इसे चोरी की धाराओं का मामला बताने की बात कह रही थी।