MP News: वरिष्ठ कांग्रेस नेता के भाई के फर्म पर खाद्य विभाग की छापेमार कार्रवाई

हालांकि बड़ी बात यह है कि खजूर को इरान से आयात किया गया बताया जा रहा है। वही पुलिस में पूछे जाने पर कि भारत में इसका आयातकर्ता कौन है, जवाब नहीं दिया गया।

नीमच, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में मिलावटखोरों से मुक्ति अभियान के तहत कार्रवाई जारी है। शिवराज सरकार (Shivraj government) के निर्देश के बाद लगातार प्रशासन (Administration) और विभाग कड़ी नजर बनाए रखें है। इसी बीच नीमच के वरिष्ठ कांग्रेस नेता (congress leader) के भाई अनवर हुसैन एंड फ्रूट्स कंपनी पर खाद विभाग ने रविवार को कार्रवाई की। कोई कार्रवाई के दौरान खाद्य विभाग ने करीब 400 पिंड खजूर के 30 किलोग्राम के कट्टे मौके पर जब्त किए।

दरअसल नीमच सब्जी मंडी स्थित पुराने माल गोदान के पास लूट की बड़ी फॉर नेशनल फ्रूट कंपनी पर आज खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीव मिश्रा और नीमच पुलिस ने छापामार कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान खाद्य अधिकारी ने बड़ी मात्रा में खराब खजूर पिंड बरामद किए गए। छापामार कार्रवाई करते हुए मौके पर से 33 किलो के 400 से ज्यादा पैकेट यानी चार लाख से अधिक पिंड खजूर के जब्त किए गए हैं।

इस मामले में खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय मिश्रा का कहना है कि ये कंपनी नेशनल फ्रूट कंपनी के नाम से संचालित है। जिसके मालिक मोहम्मद वसीम बताए जा रहे हैं। इसके साथ ही खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय मिश्रा ने बताया कि उनके पास इस कंपनी का लाइसेंस (license) नहीं है और फॉर्म को अनवर हुसैन और ब्रदर्स और अमन ट्रेडिंग कंपनी की सब्सिडियरी फॉर्म बताया गया है।

Read More: किसानों को उद्यानिकी फसलों के उत्पादन की ट्रेनिंग देगी सरकार

इसके साथ ही साथ खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजय मिश्रा ने बताया कि खजूर के कटों से पानी निकल रहा है। ऐसे लग रहा है कि यह माल एक्सपायर हो चुके। वहीं दूसरी तरफ नए खजूर पैकेट पर तारीख निकलवा कर नई तारीख के स्टीकर लगाया गया है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया ऐसे कार्य पर धारा 420 का मामला बनता है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि अनवर हुसैन एंड ब्रदर्स द्वारा बिना किसी अनुमति के नेशनल फ्रूट कंपनी संचालित की जा रही है। जो गैरकानूनी है।

हालांकि बड़ी बात यह है कि खजूर को इरान से आयात किया गया बताया जा रहा है। वही पुलिस में पूछे जाने पर कि भारत में इसका आयातकर्ता कौन है, जवाब नहीं दिया गया। इसके साथ ही पिंड खजूर के पैकेट पर एफसीआईआई (FCII) कि सील लगी है जो केवल भारत के लिए ही लागू है। वहीं खाद्य सुरक्षा अधिकारी का कहना है कि फिलहाल पिंड खजूर के सैंपल ले टेस्टिंग के लिए भेजे जा रहे हैं। जिसके बाद रिपोर्ट आने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।