कृषि उपज मंडी में हजारों बोरी उपज भीगी, किसानों की मेहनत पर फिरा पानी

Avatar
Published on -

Neemuch News : प्रदेश की सर्वाधिक आय शासन को देने वाली नीमच कृषि उपज मंडी में बारिश के मौसम में किसान आये दिन परेशान हो रहे हैं। यहां जरा सी बारिश से किसानों की हजारों बोरी उपज भीग गई। हालांकि किसानो ने त्रिपाल ढक कर उपज को बचाने का प्रयास किया लेकिन उनके प्रयास विफल रहे। शुक्रवार दोपहर में हुई बारिश से सोयाबीन, अलसी, धनिया, मेथी की उपज भारी मात्रा में भीगी है। किसानों की माने तो कृषि उपज मंडी में आज लगभग 5 से 7 हजार बोरी उपज गीली हुई है। उपज खराब होने से किसान खासे परेशान है।

मायूस हुए किसान

नीमच कृषि उपज मंडी प्रदेश की ए श्रेणी की मंडियों में गिनी जाती है। यहाँ पर मध्यप्रदेश सहित अन्य राज्यो से भी किसान उपज लेकर आते हैं। लेकिन मंडी में शेड की पर्याप्त व्यवस्था नही होने के कारण किसानों को खुले में उपज के ढेर लगाने पड़ते हैं। मौके पर सूखी उपज के ढेर तो बिक गए लेकिन जो उपज अचानक आई बारिश के कारण भीग गई, उसकी मंडी रसीद काटने के बाद भी बोली नहीं लगाई गई। किसान परेशान होते रहे। किसानो का कहना है कि शेड में रखी फसल को पहले नीलाम कर दिया जाता है जबकि खुले में रखे उपज के ढेर की नीलामी बाद में की जाती है। जबकि बारिश को देखते हुए खुले में रखी उपज की पहले नीलामी की जानी चाहिए। शेड की संख्या बढ़ाई जाना चाहिए। भीगी उपज लेकर परेशान किसान मंडी में देर शाम तक सिर पर हाथ धरे बैठे रहे लेकिन उनकी सुध किसी ने नहीं ली। मंडी के कर्मचारी और अधिकारी शाम 4बजे बाद से ही नदारद दिखे।

.

 

नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट 

 


About Author
Avatar

Sushma Bhardwaj

Other Latest News