पुलिस ही नहीं सुन रही पुलिसकर्मी की फरियाद, एसपी ऑफिस पहुंचकर सुनाई पीड़ा 

फरियादी पुलिसकर्मी मुरैना एसपी ऑफिस में पदस्थ है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। जनता की सुरक्षा का दावा करने वाली पुलिस (Police) कितनी संजीदा है इसका एक उदाहरण मंगलवार को ग्वालियर (Gwalior News) में सामने आया। एसपी ऑफिस की जनसुनवाई में पहुंचे एक पुलिसकर्मी ने शिकायत की कि पुलिस उसकी ना तो सुनवाई कर रही है और ना ही मदद कर रही है।  उसने आरोप लगाया कि उसने संदिग्ध आरोपियों के फुटेज भी पुलिस अधिकारियों को दे दिए फिर भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही।

ग्वालियर एसपी (Gwalior Police ) की जनसुनवाई ने पहुंचा जोगेंद्र सिंह मुरैना एसपी ऑफिस में पदस्थ है।  उसने पिताजी और अन्य परिजनों के साथ पहुंचकर शिकायती आवेदन दिया कि महाराजपुरा थाने के टीआई उसकी सुनवाई नहीं कर रहे। जबकि उसने उसके पिताजी के साथ हुई मारपीट और ट्रैक्टर लूट की घटना के संदिग्धों के फुटेज भी टीआई को दिए है फिर भी वे आरोपियों के खिलाफ एक्शन नहीं ले रहे।

ये भी पढ़ें – MP Board : विद्यार्थियों के लिए राहत भरी खबर, परीक्षा के लिए 1 दिसंबर से शुरू होंगे आवेदन

फरियादी जोगेंद्र सिंह ने बताया कि 22 नवंबर को दिन में 11:30 बजे उसके पिताजी गिट्टी भरने गए थे जैसे ही वे लक्ष्मणगढ़ से पांच किलोमीटर आगे हाइवे पर पहुंचे पांच लोगों ने उन्हें घेर लिया और ट्रैक्टर रोक लिया। आरोपियों ने पिताजी नरोत्तम सिंह के साथ मारपीट की और तीन बदमाश ट्रैक्टर लूट कर भाग गए। उनके साथ अपाचे बाइक से आये दो बदमाशों ने पिताजी के हाथ पैर बंधे और दो घंटे तक झाड़ियों में बंधक बनाये रखा, फिर भाग गए।

ये भी पढ़ें – RTO का वायरल वीडियो “सौ ग्राम गांजे की पुड़िया ऑटो में रखकर करा दूंगा अंदर”

पुलिसकर्मी जोगेंद्र सिंह ने बताया कि उसने घटना की शिकायत महाराजपुरा थाने में की लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया, हमने कुछ फुटेज भी पुलिस को दिए संदिग्धों के नाम बताये एक संदिग्ध को पहचाना भी उसका नाम बताय ऑफर भी टीआई महाराजपुरा ने कोई एक्शन नहीं लिया।  पुलिस बस संदिग्धों को थाने बुलाकर पूछताछ कर वापस लौटा रही है।

ये भी पढ़ें – यहाँ पहले वैक्सीनेशन किया फिर जनसुनवाई का आवेदन स्वीकार किया

उधर एडिशनल एसपी  सतेंद्र सिंह तोमर ने इस मामले में कहा कि ये उनकी सोच है। पुलिस अपना काम कर रही है। मामला गंभीर हैं लूट का प्रकरण है।  पुलिस इस मामले में अपन स्तर पर कार्रवाई कर रही है।