Rajgarh News : लापरवाही की तस्वीर आई सामने, धारा 144 के बीच कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन

राजगढ़ से फिर लापरवाही की तस्वीर सामने आई है। धारा 144 के बीच कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। और इस आयोजन में बिना मास्क के भीड़ देखने को मिली।

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। देश में कोरोना (Corona) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं । जिसको लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) लोगों से सोशल डिस्टेंस का पालन व मास्क लगाने की अपील कर रहे हैं । बावजूद उसके लोग लापरवाही बरतने से बाज नहीं आ रहे है।

यह भी पढ़ें….Bhopal News: नगर निगम का एक्शन, 3 कॉलोनियों के पानी Supply बंद, रहवासियों का विरोध

मध्यप्रदेश के राजगढ़ (Rajgarh) से प्रशासन की अनदेखी से एक बार फिर लापरवाही वाली तस्वीरे सामने आई है। राजगढ़ में कोरोना काल में धारा 144 के बावजूद रात्रि कालीन कबड्डी प्रतियोगिता (Kabaddi competition) का आयोजन किया गया । जिसमें राजगढ़ जिले के साथ-साथ शाजापुर और गुना जिले के खिलाड़ी भी शामिल होने के लिए आए थे , वही कबड्डी खेल के इस आयोजन में बिना मास्क के लोगों की भीड़ जुटी थी। खेल नहीं सिखाते समाज की अनदेखी, लेकिन कोरोना महामारी के बीच आयोजकों व खिलाड़ियों ने अपने स्वार्थ के लिए लोगों की मुश्किल बढ़ा रहे है।

Rajgarh News : लापरवाही की तस्वीर आई सामने, धारा 144 के बीच कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन

कहते हैं कि खेल से शारीरिक, मानसिक तथा नैतिक गुणों का विकास होता है, लेकिन कोरोना युग में यह बातें पूरी तरह बदल गई है। बावजूद इसके प्रशासन की अनदेखी की वजह से इस तरह की लापरवाही वाली तस्वीरें सामने आ रही है, जिसकी वजह से राजगढ़ जिले की मुश्किलें बढ़ सकती है । लापरवाही की ये तस्वीरें राजगढ़ जिले के ब्यावरा शहर की है। जहां ब्यावरा रोड पर स्थित बालक हाई स्कूल परिसर में दो रात्रिकालीन कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है ,युवा शक्ति मंच और एकलव्य स्पोर्ट्स अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में विश्व कबड्डी दिवस (World Kabaddi Day) के उपलक्ष्य में दो दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें राजगढ़ जिले के साथ-साथ अन्य जिले से भी कबड्डी के खिलाड़ी भाग लेने पहुचे थे ,लापरवाही वाले इस आयोजन में कबड्डी एक ऐसा खेल है ,जिसमे खिलाड़ियों का आपस मे सम्पर्क होता रहता है ,ऐसे में कोई एक खिलाड़ी भी संक्रमित हुआ तो दूसरों में संक्रमण का डर रहेगा। इस कारण आयोजनकर्ता व खिलाडिय़ों को कोरोना काल मे इस तरह के खेल के आयोजन में शामिल होने से बचना चाहिए । लेकिन यहां इसका बिल्कुल उल्टा नजारा देखने को मिला।

यह भी पढ़ें….MP के छात्रों के लिए खुशखबरी, भोज मुक्त विश्वविद्यालय अब कराएगा यह डिप्लोमा कोर्स