Earthquake In MP: मध्यप्रदेश में यहां फिर हिली धरती, भूंकप के झटके के बाद घरों से भागे लोग

प्रशासन की तरफ से कहा जा रहा है कि जल्द भूगर्भीय हलचल का पता लगाने के लिए टीम शिवनी पहुंचने वाली है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र से 3 सदस्य टीम सोमवार को सिवनी पहुंचेगी और जांच शुरू करेगी।

भूंकप

सिवनी, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में बीते कुछ दिनों से जमीन के अंदर हलचल का सिलसिला जारी है। कंपन की वजह से लोग दहशत में दिन गुजार रहे हैं। इसी बीच सभी जिले में सोमवार तड़के सुबह भूकंप के जोरदार झटके महसूस किए गए। जोरदार आवाज के साथ कंपन के बीच लोगों की नींद खुली और लोग अपने आप को बचाने के लिए घर से सड़कों की तरफ भागे।

दरअसल मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में कंपन महसूस होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। कुछ दिनों से लगातार सिवनी के अलग-अलग हिस्सों में जोरदार झटके महसूस किए जा रहे हैं। हालांकि रविवार के दिन ऐसी कोई हलचल महसूस नहीं की गई थी लेकिन सोमवार तड़के सुबह एक बार फिर से कंपन ने लोगों के अंदर खौफ बढ़ा दिया है। सिवनी जिले के कई इलाके में कंपन इतनी तेज थी कि दीवारों में दरारें तक आ गई। वही पूरा का पूरा घर हिल रहा था।

ये भी पढ़े: किसानों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान, देखें वीडियो

जिन इलाकों में तेज कम पर महसूस की गई उसमें पलारी, छिड़िया, बारापत्थर, कटंगी रोड, जनता नगर तड़के सुबह 7:00 बजे के आसपास झटके महसूस किए गए। वही लोगों का कहना है कि अहले सुबह 4:00 से 5:00 के बीच दो बार हल्के झटके महसूस होने के बाद 7:00 बजे तेज झटके से पूरा का पूरा घर हिल गया। वहीं दीवारों में दरारें आ गई।

बता दे कि मध्य प्रदेश के सिवनी जिले के विभिन्न क्षेत्रों में कंपन के झटके पिछले तीन महीने से महसूस किए जा रहे हैं। जुलाई महीने में सिवनी जिले में दो बार भूकंप के झटके को महसूस किया। वहीं अगस्त माह में भी चार से पांच बार यह कंपन महसूस किए गए थे। फिर दोबारा नवंबर के महीने शुरू होने के साथ ही जमीन के अंदर यह कंपन फिर से तेज हो गई। वही स्केल पर तेज आवाज के झटके भी दर्ज किए जा चुके हैं।

ये भी पढ़े: Income Tax Raid : बिना काम के 170 करोड़ का भुगतान, कई अधिकारी जांच के घेरे में

इधर प्रशासन की तरफ से कहा जा रहा है कि जल्द भूगर्भीय हलचल का पता लगाने के लिए टीम शिवनी पहुंचने वाली है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र से 3 सदस्य टीम सोमवार को सिवनी पहुंचेगी और जांच शुरू करेगी। इसके साथ ही साथ कंपन प्रभावित क्षेत्रों में उपकरणों की मदद से जमीन के अंदर हो रही तेज आवाज के साथ कंपन के कारणों का पता भी लगाया जाएगा।

इससे पहले बीते दिनों अक्टूबर माह में शिवनी में आए भूकंप के झटके की मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने पुष्टि की थी। उन्होंने बताया था कि 3.3 रिक्टर तीव्रता का भूकंप सिवनी जिले में दर्ज किया गया है। भूकंप का केंद्र जिले के आसपास काफी गहराई में स्थित था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here