Singrauli News: पदोन्नति प्राप्त नए कर्मचारियों को पुलिस कप्तान ने सिखाए कार्यशैली के गुण

पुलिस अधीक्षक, सिंगरौली वीरेंद्र सिंह (police officer virendra singh) ने नई जिम्मेदारी के महत्व एवम कार्यशैली के संबंध में नए गुणों को सीखने के लिए प्रशिक्षण (training) दिया। साथ ही तन्मयता से अपराधियों के प्रति सख्त रुख अपनाने के गुण सिखाए।

singrauli

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। जिले के तमाम पदोन्नत (promoted) हुए पुलिस कर्मचारियों (policemen) को पुलिस अधीक्षक, सिंगरौली वीरेंद्र सिंह (police officer virendra singh) ने नई जिम्मेदारी के महत्व एवम कार्यशैली के संबंध में नए गुणों को सीखने के लिए प्रशिक्षण (training) दिया। साथ ही तन्मयता से अपराधियों के प्रति सख्त रुख अपनाने के गुण सिखाए। वीरेन्द्र कुमार सिंह की सक्रियता से निचली मशीनरी अलर्ट मोड पर रहने लगी है।  जब भी कोई घटना घटित होती है पुलिस कप्तान वहां स्वयं पहुंच जाते हैं जिससे अमला सक्रिय हो जाता है।

कप्तान ने थाना प्रभारियों एवं समस्त पदोन्नत प्राप्त कर्मचारियों में अपराध व अपराधियों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा पैदा कर दी है। पुलिस कर्मचारियों में कुछ करने का जज्बा पैदा हुआ है। किसी भी कप्तान को आगे आकर जिम्मेदारी लेनी पड़ती है लेकिन उसमें जब तक टीम का सकारात्मक सहयोग नहीं मिलता जीत नहीं होती। खुशी की बात है कि कप्तान के अनुभवी उपकप्तान अनिल सोनकर व सी.एस.पी देवेश पाठक का उल्लेखनीय सहयोग मिल रहा है।  जिला मुख्यालय में बैठे दोनों अनुभव अधिकारी निचली टीम पर नजर रखकर कप्तान को अवगत कराते हैं। यही कारण है कि अपराधियों का खुलासा हो रहा है अपराधी पकड़े जा रहे हैं ।

Singrauli News: पदोन्नति प्राप्त नए कर्मचारियों को पुलिस कप्तान ने सिखाए कार्यशैली के गुण Singrauli News: पदोन्नति प्राप्त नए कर्मचारियों को पुलिस कप्तान ने सिखाए कार्यशैली के गुण

यह भी पढ़ें… Corona Testing: घर-घर होगी कोरोना की टेस्टिंग, जाने किन जिलों में होगी घर बैठे कोरोना की जांच

नए वर्ष 2021 के शुभारंभ में ही चितरंगी थाना क्षेत्र अंतर्गत हुए युवती के साथ दुष्कर्म एवं हत्या के खुलासे से लेकर हाल ही में माडा थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुए डबल मर्डर अंधे हत्याकांड के खुलासे के साथ-साथ विगत एक माह में ए.टी.एम कार्ड से फ्रॉड गिरी, हत्याएं, चंदन सुनार का पकड़ा जाना, गांजा ,लूट ,चोरियों के बड़े गैंग का पकड़ा जाना यह साबित करता है कि मुस्तैदी ही सफलता का मंत्र है। रेंज के आई.जी उमेश जोगा, डी.आई.जी अनिल सिंह कुशवाह की पैनी नजर के बीच अगर पुलिस के प्रति अपराधों में खौफ पैदा हुआ है तो यह शुभ संकेत है । वहीं सट्टा व महिला अपराध एवं अवैध रेत कारोबारियों के प्रति पुलिस कप्तान को और कसावट लाने की आवश्यकता है।

जिले के जनता से जब इनके कामकाज के बारे में पूछा तो शिकायतों पर त्वरित निराकरण हेतु- मोरवा थाना प्रभारी मनीष त्रिपाठी ,नवानगर के टी.आई उमेश प्रताप सिंह, कोतवाली बैढ़न के टी.आई अरुण पाण्डेय , विंध्यनगर के टी.आई राघवेंद्र द्विवेदी, बरगवां के टी.आई नागेंद्र प्रताप सिंह चौहान, महिला उप पुलिस अधीक्षक प्रियंका पाण्डेय के कार्यशैली से जनता संतुष्ट दिखी। जनता का कहना है कि यह पुलिस अधिकारी शालीनता व व्यवहार कुशलता से हमारी सुनवाई करते हैं वह त्वरित निराकरण का प्रयास करते हैं।