पुलिस ने किया डबल मर्डर केस का खुलासा, फिल्मी स्टाइल में की गई हत्या

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। माड़ा थाना अंतर्गत लौवा नदी के पास हाल ही में हुए डबल मर्डर केस का खुलासा हो गया है। पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि मृतका के पति ने ही अपनी पत्नी और साले की हथौड़ा मारकर हत्या कर दी थी। हत्या को एक्सीडेंट की शक्ल देने के लिए पति ने पत्नी और साले का शव सड़क के दोनों किनारे रख दिया था और मोटरसाइकिल का इंडिकेटर तोड़कर घटना स्थल से भाग निकला था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मामले से पर्दा उठा दिया है।

बता दें कि 22 सितंबर को माड़ा पुलिस को उदयचंद साकेत  माड़ा थाना में सूचना दी कि उनके बेटे अभिमन्यु साकेत व बेटी अंगिरा साकेत को उसके दामाद नंदलाल साकेत ने मारकर लौवा नदी पुल के आगे सड़क किनारे फेंक दिया है। शिकायत मिलने पर थाना प्रभारी रावेन्द्र द्विवेदी सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनकर व एसडीओपी राजीव पाठक के मार्गदर्शन में मामले को गंभीरता से लेते हुए घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की बारीकी से जांच की। इसके बाद आरोपी नन्दलाल साकेत को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरु की गई तो स्वीकार किया कि उसने ही अपनी पत्नी और साले की हत्या की है। आरोपी ने बताया कि हत्या के बारे में किसी को पता न चले इसलिए उसने एक सोची समझी साजिश की तहत फिल्मी स्टाइल में हत्या को एक्सीडेंट साबित करने के लिए सड़क के दोनों किनारे शव लिटा दिये और मोटरसाइकिल का इंडिकेटर तोड़ दिया, ताकि देखने पर लगे कि दोनों की मौत एक्सीडेंट से हुई है। लेकिन आरोपी कितना भी शातिर क्यों न पुलिस के हाथों से ज्यादा दिन नही बच पाता है। माड़ा पुलिस ने आरोपी नन्दलाल साकेत को अपराध क्र 426//2020 धारा 302,201 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध कर जेल भेज दिया है।

अवैध संबंध का शक व दहेज बना हत्या का कारण

माड़ा पुलिस ने जब आरोपी नन्दलाल साकेत को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की तो आरोपी ने मर्डर के पीछे पत्नी के अवैध संबंध का शक होने की बात कही। साथ में दहेज को लेकर पत्नी को प्रताड़ित करने की बात भी उसने स्वीकारी है। आरोपी बार बार दहेज को लेकर पत्नी से लड़ाई झगड़ा करता था और शक भी करता था, जिस कारण उसने अपनी पत्नी और साले की निर्मम हत्या कर दी।

फिल्मी स्टाइल में योजना बनाकर की गई हत्या

आरोपी ने घटना को अंजाम देने के लिये फिल्मी स्टाइल में योजना बनाकर लौवा नदी के पास अपने ऑटो को खराब होने की सूचना पत्नी को दी और उसे ही हथौड़ा लेकर वहां बुलाया।रात 9 से 10 के बीच महिला अपने अपने भाई के साथ लौवा नदी पर पहुंची तो नंदलाल साकेत हतौड़ा से अपनी पत्नी और साले को मौत के घाट उतार दिया। फिर हत्या को एक्सीडेंट का रूप देने के लिए सारा ड्रामा रचा।

इस कार्रवाई में माड़ा थाना प्रभारी रावेन्द्र द्विवेदी, उपनिरीक्षक राकेश कुमार राजपूत, उपनिरीक्षक बालेन्द्र त्यागी, परि.उपनिरीक्षक अमन वर्मा, सहायक उपनिरीक्षक राजेश सिंह परिहार, आर के वर्मा, आर एम खैरवार, प्रधान आरक्षक अनंतलाल प्रजापति, उपेन्द्र भदौरिया, आरक्षक आलोक चतुर्वेदी, रावेन्द्र सिंह, अनीष सिंह, बलिराम सिंह, अशोक यादव, विनय डोहरे, रविनंदन सिंह व राकेश कुमार यादव की सराहनीय भूमिका रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here