पहाड़ों में लगी आग, नींद में सो रहा वन विभाग

जिससे पेड़-पौधों,जीव-जंतु सहित कई औषधि नष्ट होती जा रहीं हैं, जिससे पर्यावरण को काफी नुकसान हो रहा हैं।

सिंगरौली,राघवेन्द्र सिंह गहरवार। जंगल मे आग लगने से सैकड़ों पेड़ पौधे जलकर खाक हो गए। पहाड़ो पर आग इतनी तेजी से फैल रही है, क्योंकि गर्मी ज्यादा बढ़ने के साथ ही जंगलों में आगजनी की घटनाएं भी शुरू हो गई है, महुआ बीनने वाले अक्सर इसी सीजन में पहाड़ों और जंगलों में आग लगा देते हैं, जिससे पेड़-पौधों,जीव-जंतु सहित कई औषधि नष्ट होती जा रहीं हैं, जिससे पर्यावरण को काफी नुकसान हो रहा हैं।

यह भी पढ़े…सीएम शिवराज के निर्देश, जल संरक्षण और महिला सशक्तिकरण पर जोर, इन्हें किया जाएगा सम्मानित

सिंगरौली जिले विकासखंड बैढन अंतर्गत कंजी गांव के लीलावर पहाड़ पर गुरुदेव को आग लगी दिखी और देखते ही देखते आग ने पहाड़ों के चारो तरफ विकराल रूप धारण कर ली है, बता दें कि लोग महुआ के लिए पत्तों में आग लगा देते हैं जिसके कारण पूरे जंगल में आग लगने से पूरी तरह जंगल जल कर नष्ट हो रहा है।सूखे पत्ते होने के कारण जंगल में आग इतनी तेजी से फैल रही है जिसके कारण आग पर काबू पाने में वन विभाग किसी प्रकार का कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

पहाड़ों में लगी आग, नींद में सो रहा वन विभाग

यह भी पढ़े…कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, DA में 25 फीसद की वृद्धि, आदेश जारी, अप्रैल महीने में होगा भुगतान

लोगो का कहना है कि आग बीते दिन से ही लगी हुई है मगर वन विभाग ने आग पर काबू पाने के लिए कोई पहल नही की है वह कुंभकरण की नींद सो रहा है, जिसके कारण सैकड़ो छोटे बड़े पेड़ पौधे जलकर खाक हो गए। एक तरफ मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान द्वारा अंकुर अभियान चलाकर हर जिले में वृक्षारोपण करवाया गया वही वन विभाग की लापरवाही के कारण रोजाना आगजनी से सैकड़ों पेड़ पौधे जलकर खत्म हो जा रहे हैं।