विशिष्ठ दिव्य ज्योति सम्मान समारोह आयोजित होगा, उत्कृष्ट कार्य करने वाले होंगे सम्मानित

ओरछा, मयंक दुबे। रामराजा सरकार की नगरी ओरछा में राष्ट्रीय चन्द्र विशिष्ठ दिव्य ज्योति सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्तर के उन विद्वान दिव्यांगों का सम्मान किया जाएगा जिन्होंने धर्म, अध्यात्म, संस्कृति, चिकित्सा एवं पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किए हैं।

सोमवार को स्वर्गीय डॉक्टर चन्द्रिका प्रसाद त्रिपाठी की पुण्यतिथि के अवसर पर प्रबंध न्यासी एवं एसबी फाउंडेशन की संस्थापक शकुंतला देवी त्रिपाठी ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि एसबी फाउंडेशन के तत्वाधान में होने वाले इस राष्ट्रीय स्तर के सम्मान समारोह में देश के कई विशिष्ट एवं अति विशिष्ट अतिथि शामिल होंगे। साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर चिकित्सा, धर्म, अध्यात्म, पर्यटन और संस्कृति इन पांच क्षेत्र में काम करने वाले देश के विशिष्ट लोगो का सम्मान भी किया जाएगा। गौरतलब है कि बुंदेलखंड के निवाड़ी जिले में जन्मे प्रतिष्ठित चिकित्सक स्वर्गीय डॉक्टर चंद्रिका प्रसाद त्रिपाठी जिन्होंने मानव मात्र की सेवा के पुरातन सिद्धान्त पर चल कर चिकित्सा, शिक्षा, धर्म, अध्यात्म और संस्कृति के क्षेत्र में अविस्मरणीय कार्य करते हुए बुंदेलखंड के गरीब व शोषित वर्ग की मदद की। उनकी स्मृति में ठीक 1 वर्ष पूर्व उनकी प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर के सम्मान राष्ट्रीय चन्द्र विशिष्ट लोकसेवा सम्मान समारोह की शुरुआत की गई थी और आज दिव्यांगजनों के लिए राष्ट्रीय चंद्र विशिष्ट दिव्य ज्योति सम्मान की शुरुआत की जा रही है। डॉक्टर साहब ने हमेशा अपने धर्म आध्यात्मिक चिकित्सा के चलते बुंदेलखंड के सुदूर अंचल के गरीब निःशक्त लोगों की मदद की और जीवन पर्यंत उनका यह लक्ष्य रहा की अंतिम पड़ाव के व्यक्ति तक वह किस तरह अपने आध्यात्मिक चिकित्सीय माध्यम से उनकी मदद कर सकें। उनके इसी सपने को साकार करने के लिए एसबी फाउंडेशन के द्वारा निवाड़ी जिले समेत बुंदेलखंड के अलग-अलग इलाकों में शिविर लगाकर प्रतियोगिताएं करके धर्म अध्यात्म का प्रचार प्रसार व चिकित्सा माध्यमों के जरिए लोगों की मदद की जा रही है। इसी तारतम्य ओरछा में इन सब क्षेत्रों से जुड़े देश के अलग-अलग इलाको की दिव्यांग विभूतियों को सम्मानित किया जाएगा जिन्होंने अपने अपने क्षेत्रों में एक अलग पहचान बनाई है। त्रिपाठी जी की दूसरी पुण्यतिथि पर इस राष्ट्रीय सम्मान समारोह की घोषणा देश के राष्ट्रीय संत मलूक पीठाश्वर और एसबी फाउंडेशन के संरक्षक द्वाराचार्य महाराज राजेंद्र दास जी ने की।