उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने आज उज्जैन संभाग में जिला, विकासखंड तथा ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होने सभी अधिकारी कर्मचारियों के प्रयासों की तारीफ की और कहा कि प्रशासन बधाई का पात्र है जिसने दिन रात मेहनत कर कोरोना (corona) से उबरने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होने कहा कि जून (June) में धीरे धीरे कोरोना कर्फ्यू (corona curfew) खोला जाएगा, लेकिन अभी कोरोना गया नहीं है और हमें ये बात समझनी होगी कि अभी भी हमें सावधानी रखनी है।

सीएम शिवराज ने कहा कि आज की तारीख में कोरोना संक्रमण पूरी तरह से कंट्रोल करने की स्थिति में है। उन्होने कहा कि लगातार पॉजिटिविटी रेट घट रही है। लेकिन उन्होने कहा कि हमें ओवर कॉन्फिडेंस में नहीं रहना है। कोरोना वायरस अभी भी है और ये इसलिए काबू में है क्योंकि हमने कोरोना कर्फ्यू लगाया हुआ है। सीएम ने कहा कि हम 31 मई का टार्गेट लें कि इस तारीफ तक हम जीरो कोरोना केस तक पहुंच पाएं। उन्होने कहा कि हम 31 मई से आगे कर्फ्यू नहीं लगा सकते क्योंकि जून में हमें सब खोलना ही पड़ेगा। उन्होने कहा कि हम अनलॉक भी वैज्ञानिक तरीके से करेंगे। हमें अनुशासन में रहना पड़ेगा। कोरोना को कंट्रोल करने के साथ हमें सामान्य जीवन की ओर लौटना पड़ेगा। गांव, वार्ड, ब्लॉक और जिले के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को जीरो कोरोना केस का लक्ष्य रखना होगा। 31 मई तक कोई छूट नहीं होगी, पूरी कड़ाई से पालन किया जाएगा। जून में शादी समारोह की अनुमति मिलेगी

किल कोरोना अभियान जून में भी जारी रहेगा। संक्रमण को पहचान कर सही समय पर इलाज की व्यवस्था की जाएगी। इसी के साथ सीएम ने टेस्टिंग पर जोर दिया। उन्होने सभी जिलों को कहा कि टेस्ट जारी रहे ताकि संक्रमण की तुरंत पहचान हो सके और संक्रमण की चेन तोड़ सके। इसी के साथ होम आइसोलेशन वाले मरीजों का पूरा ध्यान रखें। दवा का वितरण निरंतर चलता रहे।

सीएम शिवराज ने कहा कि हमें थर्ड वेव की तैयारी अभी से करनी है। उन्होने कहा कि जब तक संक्रमण है तब तक लहर आती रहेंगी और हमें इसकी तैयारी करनी होगी। हम इसके लिए स्वास्थ्य विभाग में स्टाफ की भर्ती कर रहे हैं। सीटी स्कैन सहित अन्य सभी आवश्यक मेडिकल उपकरण लाने की कोशिश की जा रही है। इसी के साथ ब्लैक फंगस पर सीएम ने कहा कि पोस्ट कोविड मरीज, ब्लैक फंगस के लक्षण मिलते ही इलाज के लिए आगे आए। हम इसके लिए जितने इंजेक्शन संभव है, उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहे हैं और उनका न्यायपूर्ण वितरण सुनिश्चित कराएंगे। सीएम ने कहा कि हर जिले में पोस्ट कोविड सेंटर बनाना है जहां ब्लैक फंगस, हार्ट आदि से संबंधित बीमारियों का इलाज किया जाएगा। जो कोरोना से ठीक होकर घर लौट रहे हैं अगर उन्हें कोई दिक्कत होती है तो कहा जाए कि तुरंत पोस्ट कोविड सेंटर में आएं और समय रहते इलाज कराएं।

कालाबाजारी के मुद्दे पर कड़ा रूख अपनाते हुए सीएम ने कहा कि ऐसे लोगों को किसी कीमत पर छोड़ना नहीं है। ऐसे लोगों पर सीधे एनएसए की कार्रवाई की जाए। उन्होने कहा कि ये मेरा निर्देश है जिसका पालन गंभीरता से किया जाए। इसी के साथ राशन का वितरण पर्याप्त मात्रा में सुनिश्चित किया है और इसका ध्यान क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी भी रखे। उन्होने मंदसौर की तारीफ करते हुए कहा कि जिन बच्चों के माता पिता नहीं रहे, उनके लिए अनुग्रह राशि और अनुकंपा नियुक्ति की व्यवस्था की जाएगी। सीएम ने कहा कि मुझे विश्वास है कि कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे। सामाजिक चेतना और जनभागीदारी से मध्यप्रदेश एक मॉडल स्टेट के रूप में उभरेगा।