कमलनाथ बोले, माफिया के खिलाफ कार्रवाई में फंसने वाले थे एदल सिंह, इसलिए बड़ा सौदा किया

कमलनाथ बोले- एदल सिंह को पता था कि न तो कमल नाथ को कोई डरा सकता है, न ही पटा सकता है, माफिया की कार्रवाई में एदल सिंह फंसने वाले थे, इसलिए बड़ा सौदा किया और सरकार गिरा दी

sumawali

मुरैना, संजय दीक्षित| मध्य प्रदेश (MadhyaPradesh) की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (Byelection) के लिए मैदान में उतरे दिग्गजों के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है| कांग्रेस प्रत्याशी अजब सिंह कुशवाह (Ajab Singh Kushwaha) के समर्थन में सभा करने सुमावली पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने एदल सिंह कंसाना (adal singh kansana) को माफिया बताया| उन्होंने कहा मेने माफिया के खिलाफ अभियान शुरू किया था, इस अभियान के तहत चंबल में सबसे बड़ी कार्रवाई एदल सिंह कंषाना पर होनी थी। सबसे पहले माफिया की कार्रवाई में एदल सिंह फंसने वाले थे, इसलिए बड़ा सौदा किया गया और भाजपा से मिलकर कांग्रेस की सरकार गिरा दी। छोटा सौदा होता तो छिप जाता। बड़े सौदे छिपते नहीं हैं।

कमलनाथ ने कहा पूर्व विधायक कंसाना जानते थे कि कमलनाथ को ना दवा सकता है ना पटा सकता है। उन्होने कहा आपने गुलामी की जंजीरों से छुटकारा दिया है। कितने साल महाराजाओं के गुलाम रहे लेकिन अब छुटकारा मिल गया है। अब भाजपा प्रत्याशी एदल सिंह कंसाना की गुलामी से छुटकारा लेना है| पूर्व सीएम ने कहा बीजेपी ने संविधान के साथ खिलवाड़ किया गया है। बाबा साहब अंबेडकर ने कभी नहीं सोचा था कि अपने देश में ऐसी भी राजनीति आएगी जहां सौदा हो जाएगा। लोग बिक जायेंगे। ऐसी अनैतिक राजनीति नहीं आएगी ,इसका कोई प्रावधान नहीं था । हमें ऐसे संविधान की रक्षा करनी है। हमारे बुजुर्गों ने तो जीवन काट लिया संविधान हमारे नौजवानों की रक्षा करेगा। 15 साल बाद कांग्रेस की सरकार बनी हमने नोट से सरकार नहीं बनाई थी। आज की सरकार तो नोट से बनी हुई सरकार है। 15 साल की तस्वीर आपके सामने है और 15 महीने की सरकार आपके सामने हैं। नीति और नियत का परिचय दिया है ।

कमलनाथ ने कहा भारतीय जनता पार्टी ने हमें ऐसा मध्य प्रदेश सौंपा था जहां किसानों की हाथ बंधे होने पर नंबर वन, मध्य प्रदेश बेरोजगारी में नंबर वन ,भ्रष्टाचार में नंबर वन, महिलाओं के अत्याचारों में नंबर वन ऐसा मध्य प्रदेश सौंपा गया था। सुमावली का बाजार जब चलता है जब किसानों की जेब में पैसा होता है ।हमने शुरुआत की थी कि किसानों का कर्जा माफ करेंगे ।मैंने सोचा कि शिवराज सिंह 15 महीने में सुधर जाएंगे लेकिन आज तक नहीं सुधरे। मैं तो शिवराज सिंह को कहता हूं कि शिवराज सिंह मंच पट आकर माफी माँगें। मेरे साथ कोई डंपर घोटाला नहीं जुड़ा, मेरे साथ कोई ई टेंडर का घोटाला नहीं जुड़ा, कोई व्यापम घोटाला नहीं जुड़ा, मेरे व्यापक जीवन में कोई भी उंगली नहीं उठा सकता हैं। ऐसा कौन सा काम मैंने किया है कुछ भी झूठ बोल दो। यह झूठ की राजनीति शिवराज सिंह बन्द कर दो। मध्य प्रदेश की जनता ने पहचाना और शिवराज सिंह को घर बैठा दिया। मालनपुर में केवल शराब के उद्योग चलते हैं और उधोग तो बन्द हो जाते है। क्योंकि मध्यप्रदेश की पहचान तो माफिया से और मिलावट से है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा शिवराज कहते हैं जनता मेरी भगवान है छोड़िए शिवराज जी प्लीज इतनी कलाकारी करना बन्द कर दो देख लीजिए आगे जनता सब कुछ जानती है। कि भगवान तो आपके माफिया है, यह मिलावट खोर है यह तस्वीर आपके सामने है।15000 घोषणाए शिवराज सिंह ने 15 साल में की थी। चुनाव में जेब में रखकर नारियल लेकर घूम रहे हैं शिवराज जी जनता मूर्ख नहीं बनने वाली है। हमारे नौजवान बहुत समझदार हो गए हैं। कमलनाथ की हार जीत का नहीं है अजब सिंह की हार जीत का नहीं बल्कि उसमें मध्यप्रदेश के भविष्य की हार जीत का सवाल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here