शिवराज सरकार

नई दिल्ली।
लॉक डाउन के चलते बोर्ड परीक्षाएं अब तक नही हो पाई है, इसी बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने अपनी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर बड़ा फैसला किया है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 10वीं और 12वीं के जीवविज्ञान (बायोलॉजी) के प्रश्नपत्र पैटर्न में बदलाव किया है। 12वीं के बायोलॉजी में अब केस स्टडी संबंधित 10 फीसदी प्रश्न पूछे जाएंगे, जबकि 10वीं और 12वीं दोनों में 20 फीसदी वस्तुनिष्ठ (आब्जेक्टिव) प्रश्न रहेंगे। इसमें मल्टीपल च्वाइस वाले प्रश्न के साथ एक शब्द में उत्तर और खाली स्थान भरने वाले प्रश्न भी शामिल रहेंगे।

दरअसल, सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में वस्तुनिष्ठ प्रश्न इसी वर्ष से शुरु किये गये हैं जिसमें प्रश्न का उत्तर दिये गये विकल्पों में से चुनना होता है। ऑब्जेक्टिव टाइप के अतिरिक्त पेपर में शॉर्ट-आंसर और लाँग आंसर क्वेश्चंस होते हैं।2020 में सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं के सभी विषयों में वस्तुनिष्ठ प्रश्न देना शुरू किया है। इसमें मल्टीपल च्वाइस के साथ एक शब्द में उत्तर देना आदि शामिल है। इसके अलावा दो और तीन अंकों के लघु उत्तरीय और छह अंकों के दीर्घ उत्तरीय प्रश्न शामिल थे।

इसके अलावा बोर्ड ने नये सत्र में कई विषयों के चैप्टर में भी बदलाव किया है। 12वीं केमेस्ट्री (रसायन विज्ञान)की बात करें तो सॉलिड स्टेट चैप्टर में पी ब्लॉक के 15 ग्रुप टॉपिक पहले 11वीं में पढ़ने होते थे, लेकिन अब इस टॉपिक को 12वीं में डाल दिया गया है। नॉट्रेडम एकेडमी की केमेस्ट्री की टीचर आभा चौधरी ने बताया कि दो साल पहले यह टॉपिक 11वीं में था, लेकिन इस साल इसे 12वीं में कर दिया गया है।