राज्य सरकार ने दी शराब की Home delivery को मंजूरी, आपको करना होगा ये

शर्त है कि शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery)  किसी हॉस्टल, ऑफिस या संस्थान में नहीं होगी ये केवल घर पर ही होगी। 

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  दिल्ली सरकार ने शराब (Liquor) की  होम डिलेवरी (Home Delivery) को मंजूरी दे दी है। नए नियम के मुताबिक देशी और अंग्रेजी शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery) के लिए शराब (Liquor) के शौकीनों को मोबाइल एप पर या ऑनलाइन वेब पोर्टल पर जाना होगा और आर्डर करना होगा।

दिल्ली सरकार ने शराब नीति में संशोधन करते हुए अब शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery) को मंजूरी दे दी है। इस आदेश के साथ दिल्ली सरकार ने कुछ शर्तें भी जोड़ी हैं जिसके मुताबिक शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery) वही कर सकेगा जिसके पास L -13 लायसेंस होगा इसके अलावा एक और शर्त है कि शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery)  किसी हॉस्टल, ऑफिस या संस्थान  में नहीं होगी ये केवल घर पर ही होगी।

गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली में पिछले महीने लॉक डाउन के दौरान शराब की दुकानों पर भीड़ टूट पड़ी थी।  हालाँकि अभी लॉक डाउन में थोड़ी रियायत है लेकिन शराब की दुकाने बंद हैं।  लॉक डाउन के बाद शराब निर्माता कंपनियों ने  दिल्ली सरकार से अप्रैल में ही होम डिलेवरी की अनुमति के लिए कहा था उनका कहना था कि दुकानों  पर भीड़ लग रही है।

ये भी पढ़ें – नरोत्तम मिश्रा बोले – टूलकिट नजर आता है राहुल गांधी और कमलनाथ का बयान

शराब निर्माता घरेलू कंपनियों के संगठन कन्फेडरेशन ऑफ़ इंडियन एल्कोहलिक बेवरेज कम्पनीज (सीआईएबीसी) ने महाराष्ट्र का उदाहरण देते हुए कहा था कि कोरोना महामारी के बाद राज्य में पाबंदियां लगाई गई लेकिन राज्य सरकार ने शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery) की अनुमति दी है।

ये भी पढ़ें – कोरोना वेरिएंट को मिले नाम, WHO ने भारत में मिले वायरस को कहा “डेल्टा” और “कप्पा

उधर छतीसगढ़ सरकार भी शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery) की मंजूरी दे चुकी है।  राज्य में 10 मई से शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery)  की जा रही है।  शराब की होम डिलेवरी (Home Delivery)  के लिए प्रदेश के आबकारी आयुक्त ने राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भेजा था जिसे राज्य सरकार  ने 8 मई को स्वीकार कर लिया था।

ये भी पढ़ें – जिस पिता के लिए बिहार की बेटी ज्योति ने चलाई थी 1200 किमी साइकल, उसने दुनिया को कहा अलविदा