Lok Sabha Elections 2024: पहले चरण की मतदान प्रक्रिया संपन्न, मध्य प्रदेश में हुआ 63.27 फीसदी मतदान, सबसे कम, सबसे ज्यादा, कहां रहा मतदान का प्रतिशत, देखें यहाँ

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में एमपी की 29 सीटों में 6 सीटों पर चुनाव की प्रक्रिया पूरी हो गई हैं, इनमें सीधी, शहडोल, मंडला, जबलपुर, बालाघाट और छिंदवाड़ा की सीट शामिल रहीं।

Shashank Baranwal
Published on -
Voting

Lok Sabha Elections 2024 Phase 1 : लोकसभा चुनाव 2024 का पहले चरण का मतदान शुक्रवार को शाम 6 बजे संपन्न हो गया। पहले चरण में 21 राज्यों के 102 सीटों पर चुनाव की प्रक्रिया संपन्न हुई, जिसमें मध्य प्रदेश की 6 सीटें समेत तमिलनाडु की सभी 39 सीटें, राजस्थान 12 सीटें, उत्तर प्रदेश की 8 सीटें, उत्तराखंड की सभी 5 सीटें, असम और महाराष्ट्र की 5-5 सीटें, बिहार की 4 सीटें, पश्चिम बंगाल की 3 सीटें अरूणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय की 2-2 सीटें और मिजोरम, त्रिपुरा एवं छत्तीसगढ़ की 1-1 सीटें शामिल हैं। इसके अलावा नागालैंड, पुडुचेरी, अंडमान, लक्षद्वीप, सिक्किम और जम्मू-कश्मीर की 1-1 सीटों पर चुनाव की प्रक्रिया संपन्न हुई।

एमपी में शाम 5 बजे तक इतना फीसदी रहा मतदान

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में एमपी की 29 सीटों में 6 सीटों पर चुनाव की प्रक्रिया पूरी हो गई हैं, इनमें सीधी, शहडोल, मंडला, जबलपुर, बालाघाट और छिंदवाड़ा की सीट शामिल रहीं। इन सीटों में से शाम पांच बजे तक सबसे ज्यादा छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर 73.85 फीसदी मतदान हुआ। इसके अलावा बालाघाट में 71.08 फीसदी, मंडला में 68.31 फीसदी, शहडोल में 59.91 फीसदी, जबलपुर में 56.74 फीसदी और सबसे कम सीधी सीट पर 51.24 फीसदी मतदान हुआ।

Continue Reading

About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।