Ratna Shastra: कुंडली के ग्रहों को बलवान करते हैं ये 9 रत्न, जानें कितने दिन में होने लगता है फायदा, किन राशियों के लिए है शुभ

रत्न हमारे जीवन को गहरे तरीके से प्रभावित करने का काम करते हैं। चलिए आज हम आपको इनके होने वाले असर के बारे में बताते हैं।

Diksha Bhanupriy
Published on -
Ratna Shastra

Ratna Shastra: ज्योतिष एक ऐसी विद्या है जिनमें 12 राशियों और उनसे जुड़े हुए नौ ग्रहों का जिक्र किया गया है। कुंडली में अगर कोई ग्रह गलत योग का निर्माण करता है तो व्यक्ति को जीवन में परेशानी का सामना करना पड़ता है। लेकिन कुछ ऐसे रत्न भी मौजूद हैं, जिन्हें अगर सही तरीके से धारण कर लिया जाए तो ग्रहों के अशुभ प्रभाव को काम किया जा सकता है।

इन रत्नों को धारण करने से ग्रह दोष धीरे-धीरे ठीक होने लगते हैं। चलिए आज हम आपको कुछ रत्नों की जानकारी देते हैं और यह बताते हैं कि किस तरह से आप ग्रहों की शुभ दृष्टि पा सकते हैं।

मूंगा

मूंगा मंगल ग्रह की शांति के लिए पहने जाने वाला रत्न है। यह धारण करने के 21 दिन से 1 महीने के भीतर अपना असर दिखना शुरू कर देता है।

माणिक

माणिक का संबंध सूर्य ग्रह से होता है जो ग्रहण के राजा कहलाते हैं। धारण करने के 15 से 30 दिनों के बीच इसका प्रभाव दिखने लगता है।

हीरा

हीरा बहुत चमत्कारी रत्न है, जो शुक्र ग्रह को मजबूत बनाने का काम करता है। धारण करने के 22 दिनों बाद से इसका असर दिखने लगता है। वृषभ, तुला, कन्या, मकर और मिथुन वालों के लिए यह शुभ होता है।

नीलम

नीलम शनि से जुड़ा हुआ रत्न है जो व्यक्ति को रंक से राजा बना देता है। यह धारण करने के 2 से 3 दिन में ही प्रभाव दिखने लगता है। कुंभ और मकर के लिए यह काफी शुभ है।

मोती

इसका संबंध चंद्रमा से होता है जो मन को शांति देने का काम करता है। धारण करने के एक हफ्ते बाद से इसका असर नजर आने लगता है। मीन, कर्क, तुला और मेष के लिए ये शुभ है।

पन्ना

यह बुध ग्रह का प्रतिनिधित्व करने वाला रत्न है, जो धारण करने के 7 दिनों के बाद असर दिखना शुरू कर देता है। कन्या और मिथुन के लिए ये उत्तम है।

पुखराज

यह बृहस्पति से जुड़ा हुआ है जो 15 दिनों में असर दिखने लगता है। कन्या, वृषभ और मिथुन के लिए यह लाभकारी साबित होता है।

लहसुनिया

धारण करने के एक माह के अंदर इसका असर दिखने लगता है। अगर केतु ग्रह प्रबल है तो उसकी शांति के लिए इसे पहना जाता है।

गोमेद

यह 15 से 30 दिनों में प्रभाव देना शुरू कर देता है। मिथुन, कन्या, वृषभ, तुला और कुंभ के लिए यह काफी शुभ है।

डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News