जानें आखिर कैसे मिली Parag Agarwal को Twitter के नए CEO की जिम्मेदारी

पराग आईआईटी बॉम्बे से इंजीनियरिंग और Stanford University (स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी) से कम्प्यूटर साइंस में डॉक्टरेट की डिग्री हासिल कर चुके है।

PARAG AGRWAL

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। ट्विटर यूजर्स के लिए बड़ी खुशखबरी है।जैक डॉर्सी (jack dorsey) ने ट्विटर सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया है और अब भारतीय मूल के पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) को सीईओ की जिम्मेदारी सौंपी गई है।2011 में ट्वीटर में एंट्री करने वाले 45 वर्षीय पराग अग्रवाल के नया सीईओ (Twitter new CEO) बनते ही चर्चाओं का बाजार गर्म हो चला है।  Twitter में तेजी से बदले इस घटनाक्रम के बाद आने वाले दिनों में बड़ा परिवर्तन देखने को मिल सकता है।

मप्र पंचायत चुनाव: दिसंबर में तारीखों का ऐलान! कलेक्टर आज देंगे रिपोर्ट, अधिकारियों को जिम्मेदारी

2017 से अभी तक पराग अग्रवाल ट्वीटर कंपनी में बतौर CTO (chief technology officer) काम कर रहे थे और उन्होंने 2011 में इंजीनियर के तौर पर ही करियर की शुरुआत की थी और अब सीईओ का पद संभालने जा रहे हैं। चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर के दौरान उन्होंने समूचे कंज्यूमर, रेवेन्यू और साइंस टीमों में मशीन लर्निंग (ML)और आर्टिफिश‍ियल इंजीनियरिंग (AI) के तकनीकी रणनीति और निगरानी पहलू को बखूबी संभाला था।। वह ट्विटर को ओपन प्लेटफॉर्म और विकेंद्रित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बनाने के प्रोजेक्ट ब्लूस्काई विजन के भी इंचार्ज रह चुके है।

पराग आईआईटी बॉम्बे से इंजीनियरिंग और Stanford University (स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी) से कम्प्यूटर साइंस में डॉक्टरेट की डिग्री हासिल कर चुके है। खास बात है कि पराग इंजीनियर एक्सपर्टीज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और ऐड नेटवर्क में है, जो की कंपनी के लिए बड़े फायदेमंद साबित हो सकते है। ट्विटर ज्वाइन करने से पहले पराग माइक्रोसॉफ्ट और याहू और एटीएंडटी जैसी दिग्गज अमेरिकी कंपनियों के साथ काम कर चुके हैं। इन तीनों ही कंपनी में उनका काम रिसर्च-ओरिएंटेड था, उन्होंने ट्विटर में ऐड रिलेटेड प्रोडक्ट्स पर काम करने से शुरुआत की थी। लेकिन, बाद में वो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करने लगे।

यह भी पढ़े.. MP News: पंचायत सचिव समेत 7 निलंबित, 144 कर्मचारियों को नोटिस, 22 का वेतन काटा

जैक डोर्सी ने एक बयान जारी कर कहा है कि मैंने ट्विटर को छोड़ने का फैसला लिया है क्योंकि मेरा मानना है कि कंपनी अब अपने संस्थापकों से आगे बढ़ने के लिए तैयार है। मुझे सीईओ के तौर पर पराग पर विश्वास है और मैं मानता हूं कि कंपनी के लिए अपने संस्थापकों से आगे बढ़ने का समय आ गया है। पिछले 10 वर्षों में यहां उनका काम बेहद शानदार रहा है।वही अग्रवाल ने ट्विटर पर लिखा कि वह अपनी नियुक्ति को लेकर काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं और खुश हैं। उन्होंने डोर्सी के निरंतर मार्गदर्शन एवं दोस्ती के लिए उनका आभार व्यक्त किया।