Internet Explorer: Microsoft बंद करने जा रहा है यह वेब ब्राउजर, जानें क्या है वजह

2010 तक इसके ग्राहक घट कर 50 प्रतिशत रह गए हैं, ऐसे में अब कंपनी इंटरनेट एक्सप्लोरर (Internet Explorer) को 26 सालों बाद बंद करने का ऐलान किया है।

Microsoft

टेक्नालॉजी, डेस्क रिपोर्ट। बिल गेट्स (Bill Gates) की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने 26 साल पुराने वेब ब्राउजर (Web browser) इंटरनेट एक्सप्लोरर (Internet Explorer) को बंद करने का ऐलान किया है। इंटरनेट एक्सप्लोरर अगले साल 15 जून 2022 को रिटायर हो जाएगा। इस बात की जानकारी माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज ब्लॉग ने दी है।

यह भी पढ़े.. WhatsApp लेकर आ रहा है नया फीचर, सीक्रेट चैट्स होंगी हाइड और ट्रांसफर

Microsoft कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा है कि Internet Explorer 11 डेस्कटॉप एप्लिकेशन को 15 जून 2022 को रिटायर्ड किया जा रहा है। इस वेब ब्राउजर की पेशकश 1995 में विंडोज 95 के साथ की गई थी। एक्सप्लोरर एक समय में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला वेब ब्राउजर (Web Browser) था, जिसने साल 2003 तक करीब 95 प्रतिशत उपयोगी हिस्सेदारी हासिल की थी। इसे अब 15 जून 2022 के बाद इसे तकनीकी सपोर्ट रोक दिया जाएगा।

Microsoft में अधिकारी शॉन लिंडरसे ने बताया कि सबसे पहले विंडो 10 ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ वर्जन के लिए इसे बंद किया जाएगा। इसकी जगह माइक्रोसॉफ्ट एज इंटरनेट ब्राउजर (Microsoft Edge) को इस्तेमाल किया जा सकता है, जो ज्यादा तेज सुरक्षित और आधुनिक समय की जरूरतों के अनुसार बना है।माइक्रोसॉफ्ट ऐज न केवल इंटरनेट एक्सप्लोरर की तुलना में एक तेज, अधिक सुरक्षित और अधिक आधुनिक ब्राउजिंग अनुभव है बल्कि यह पुरानी, पारंपरिक वेबसाइटों और ऐप्लीकेशंस के अनुरूप भी है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के 22 जिलों में बारिश के आसार, जून के दूसरे हफ्ते में होगी मानसून की एंट्री!

गौरतलब है कि Microsoft ने अपने वेब ब्राउजर की शुरुआत 16 अगस्त 1995 को की थी, जिसे यूजर्स द्वारा इस्तेमाल तो किया गया, लेकिन गूगल क्रोम (Google Crome) और मॉजिला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox) के आने के बाद इंटरनेट एक्सप्लोरर की पॉपुलैरिटी कम होते चली गई। 2002 तक 95 प्रतिशत लोग इसका इस्तेमाल करते थे। 2010 तक इसके ग्राहक घट कर 50 प्रतिशत रह गए हैं, ऐसे में अब कंपनी इंटरनेट एक्सप्लोरर (Internet Explorer) को 26 सालों बाद बंद करने का ऐलान किया है।