सतना महापौर ने ब्यूरोक्रेसी पर फिर निकाली भड़ास, देखिये वीडियो

सतना|शाहिर खान| सतना महापौर ममता पाण्डेय अपने मिजाज को लेकर एक बार फिर सुर्खियो में है। एक बार फिर उन्होंने ब्यूरोक्रेसी पर भड़ास निकाली है| उन्होंने निगम आयुक्त प्रतिभा पाल पर निशाना साधते हुए कहा कि कमिश्नर  मनमानी करती हैं, कार्यक्रमों में उन्हें बुलाया नहीं जाता, वोट लेने हमें जाना है, जनता के बीच वोट लेने कमिश्नर नहीं जाएंगी|  

दरअसल ममता पाण्डेय इसलिए भड़क गई क्यूंकि उन्हें नगर निगम द्वारा आयोजित आई.एच.एस.डी.पी. कार्यक्रम में नही बुलाया गया था। महापौर बिन बुलाए मेहमान की तरह पहुंची और जमकर भडक गई।

महापौर ने कहा कि ये सरकारी योजनाएं आम जनता के लिए है और हम उनके प्रतिनिधी है। इसलिए हम बिन बुलाये पहुंचे हैं। इस कार्यक्रम में दो पार्षदो और नगर निगम के कर्मचारी अधिकारी के अलावा किसी को नही बुलाया गया। महापौर और अध्यक्ष तक को सूचना भी नही दी गई | लेकिन महापौर बिन बुलाए ही पहुॅच गई।  बिन बुलाई पहुंची निगम की महापौर ममता पाण्डेय ने नगर निगम कमिश्नर को निशाना बनाते हुए ब्यूरोक्रेसी हावी होने की बात कही। साथ ही हाल ही के दिनो में मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन द्वारा दी गई सीख का हवाला दिया और कहा कि वोट जनप्रनिधी मांगते है। जनता के बीच हमे जाना पड़ता है वोट पार्षदो को मांगने पड़ते है कमिश्नर वोट मांगने नही जाएंगी। हमारी सरकार है मुख्यमंत्री हमारे है प्रधनमंत्री हमारे है। योजनाओं का बखान करने जनता के बीच हमे जाना है। महापौर ने कहा कमिश्नर किसी कार्यक्रम की कोई सूचना हमें नहीं देती हैं, अपना मन का काम करती हैं| जनप्रतिनिधियों को यहां जीरों बनाया गया है, महापौर ने निगम के काम काज पर भी सवाल उठाये हैं| उन्होंने कहा यहां कोई काम नहीं होता है, एक टैंकर पानी लेने जाते हैं तो पानी भी नहीं मिलता है| 


"To get the latest news update download tha app"