आगामी चुनावों को लेकर मंथन तेज, BJP वरिष्ठों की आज महत्वपूर्ण बैठक

माना जा रहा है कि सभी राज्यों के प्रभारियों के साथ चर्चा होने के बाद एक बार फिर से आगामी विधानसभा चुनाव में अपने पक्ष को मजबूत करने के लिए BJP किसी नई रणनीति के साथ चुनावी मैदान में उतरेगी।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में सियासी हलचल के बीच राष्ट्रीय भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) द्वारा पार्टी के महासचिव (General Secretary) और संगठन के अध्यक्षों के साथ बैठक की गई। यह बैठक इस मायने से भी महत्वपूर्ण है कि सुबह 11:00 बजे से चली 5:30 बजे तक इस बैठक में पार्टी के सभी महासचिव मौजूद रहे और पांच राज्य चुनाव (five state elections) पर मंथन किया गया।

इतना ही नहीं इस बैठक में आगामी चुनाव (upcoming elections) को लेकर नीतियां तैयार की जा रही है। सूत्रों की माने 5 विधानसभा चुनाव के नतीजे की समीक्षा के साथ-साथ संगठन के कार्यों की फीडबैक (feedback) पर भी चर्चा की गई है। इसके अलावा BJP शासित राज्य में मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं का लाभ संगठन द्वारा आम जनता तक पहुंच रहा है नहीं, इसकी रणनीति पर भी विस्तृत चर्चा की गई।

Read More: MP Board: 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए बड़ी खबर, माशिमं जल्द करेगा फैसला

ज्ञात हो कि देश के कई राज्यों में 2022-23 में कई बड़े चुनाव होने हैं। जिसको लेकर BJP मंथन की स्थिति में आ गई है। आगामी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में होने वाले चुनाव (election) को लेकर रणनीतियां तेज हो गई है। इसके अलावा इस बैठक में सेवा ही संगठन के जरिए देशभर में राहत और सहायता कार्य में सम्मिलित BJP कार्यकर्ताओं पर भी विचार विमर्श किया गया। लंबी चर्चा के बाद संगठनात्मक कार्यक्रमों को तेज करने की बात कही गई है।

बता दे अगले साल की शुरुआत में देश के चार राज्यों में चुनाव होने हैं। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और गुजरात में होने वाले इन चुनाव में BJP अपने पिछले प्रदर्शन से बेहतर की उम्मीद करेगी। ऐसी स्थिति में लगातार संगठन के नेताओं द्वारा वरिष्ठओं के साथ बैठक की जा रही है। वहीं आगामी चुनाव को लेकर पार्टी प्रोग्राम और तैयारियों को लेकर भी चर्चा तेज की जा रही है। माना जा रहा है कि सभी राज्यों के प्रभारियों के साथ चर्चा होने के बाद एक बार फिर से आगामी विधानसभा चुनाव में अपने पक्ष को मजबूत करने के लिए BJP किसी नई रणनीति के साथ चुनावी मैदान में उतरेगी।