अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि का संदिग्ध परिस्थितियों में निधन

महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शोक व्यक्त किया है।

लखनऊ, डेस्क रिपोर्ट। देश में संतों की सर्वोच्च संस्था अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि का निधन (Mahant Narendra Giri Died) हो गया है। उनका शव प्रयागराज के बाघम्बरी मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मिला। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुँच गए।

अखिल भारतीय अखाडा परिषद् के महंत नरेंद्र गिरि का शव पुलिस को मठ के अंदर संदिग्ध स्थिति में मिला है।  शुरूआती जाँच में ये आत्महत्या का मामला दिखाई दे रहा है हालाँकि पुलिस अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है।  सूत्र बताते हैं कि पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें मानसिक परेशानी का जिक्र है।

ये भी पढ़ें – सिंधिया के दौरे के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर, मंगलवार को सुनवाई संभव

महंत नरेंद्र गिरि ने हाल ही में तालिबान का समर्थन करने वालों को लताड़ लगाईं थी और कहा था कि जो तालिबान का समर्थन करे उसके खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुक़दमा दर्ज किया जाना चाहिए। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने इसे आध्यात्मिक जगत की अपूरणीय क्षति बताया है।

ये भी पढ़ें – पंजाब का सी एम बनते ही चरणजीत सिंह चन्नी का ऐलान, किसानों पर आई आंच तो मैं अपना गला काट दूंगा

उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)ने भी महंत नरेंद्र गिरि के निधन को अपूरणीय क्षति बताया है

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (MP CM Shivraj Singh Chauhan) ने महंत नरेंद्र गिरि के निधन पर शोक जताया है।