उच्च शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) ने कॉलेजों (colleges) को दोबारा खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। इसको लेकर हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट द्वारा एसओपी (SOP) तैयार किया जा रहा है। इससे पहले कई राज्यों में क्लासरूम टीचिंग (classroom teaching) शुरू की जा चुकी है। वही माना जा रहा है कि दिसंबर तक प्रदेश सरकार कॉलेज संचालन के लिए मंजूरी दे देगी।

दरअसल इस मामले में उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव (Higher Education Minister Mohan Yadav) का कहना है कि नवंबर अंतिम सप्ताह तक कॉलेजों के फिर से खोलने पर मंजूरी दी जा सकती है। इस मामले में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा प्रोसीजर तैयार किया जा रहा है।

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने साफ किया है कि शुरुआत में सिर्फ टेक्निकल प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट की कक्षाओं को खोलने को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके साथ ही सबसे पहले स्नातक और स्नातकोत्तर के कक्षाओं को खोला जाएगा। वहीं इससे पहले कॉलेज खोलने को लेकर यूजीसी (UGC) और एआईसीटीई (AICTE) ने गाइडलाइन (Guideline) जारी कर दी है।

यह भी पढ़े: विधानसभा चुनाव 2020 : सियासी हलचल के बीच दिग्विजय सिंह ने किसे दिया ऑफर

हालांकि अभी तक इस मामले में मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से कोई निर्देश जारी नहीं किए गए हैं लेकिन माना जा रहा है कि नवंबर अंत तक या दिसंबर की शुरुआत तक प्रदेश में एक बार फिर से कॉलेजों को खोला जा सकता है। कॉलेजों को खोलने के साथ ही कोरोना संबंधित गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जाना अनिवार्य होगा। वही एसओपी (sop) जारी करने से पहले कॉलेज प्रशासन से लगातार सलाह की मांग की जा रही है।