Saving Account Interest: ग्राहकों की हुई चांदी, ये 4 बैंक सेविंग अकाउंट पर दे रहे 8% तक ब्याज, देखें लिस्ट

Saving Account Interest Rates: भारत की बड़ी आबादी बचत के लिए सेविंग अकाउंट यानी बचत खाते का इस्तेमाल करती है। कई बैंक ऐसे हैं, जो वर्तमान में सेविंग अकाउंट पर आकर्षक ब्याज ऑफर कर रहे हैं। है इसका मतलब यह है यदि कोई ग्राहक इन बैंकों में जाकर खाता खुलवाता है तो उसके बैंक द्वारा निर्धारित किए गए इंटरेस्ट रेट का लाभ मिलेगा। हालांकि इसके लिए एक निर्धारित राशि खाते में रखना भी अनिवार्य होता है।

डीसीबी बैंक

इस लिस्ट में सबसे पहले नंबर पर डीसीबी बैंक (DCB Bank) है। यह बैंक न सिर्फ डिपॉजिट पर बल्कि सेविंग अकाउंट पर भी आकर्षक ब्याज ऑफर कर रहा है। दरें 7 से 8 फीसदी हैं। अकाउंट में 10 करोड़ से लेकर 200 करोड़ रुपये से कम का बैलेंस होने पर 8% ब्याज मिल रहा है।

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक

सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक सेविंग अकाउंट पर 7 ब्याज ब्याज दे रहा है। ग्राहकों को अपने खाते में 5 लाख से लेकर 2 करोड़ रुपये तक का बैलेंस मेंटेन करना होगा।

IDFC फर्स्ट बैंक

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक वर्तमान में 10 लाख रुपये से अधिक और 5 करोड़ रुपये से कम के बैंक बैलेंस पर 7% ब्याज दे रहा है। पिछले महीने ही बैंक ने ब्याज दरों में संशोधन किया था।

ESAF स्मॉल फाइनेंस बैंक

ईएसएएफ स्मॉल फाइनेंस बैंक बचत खाते पर वर्तमान में 50 लाख रुपये से अधिक और से 2 करोड़ से कम के बैलेंस पर 7.25% ब्याज ऑफर कर रहा है। वहीं 5 करोड़ से लेकर 10 करोड़ रुपये से कम के बैलेंस पर 7% ब्याज मिल रहा है।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News