1 फरवरी से लागू होंगे पैसों से जुड़े ये 3 नए नियम, जान लें वरना होगा नुकसान, पढ़ें पूरी खबर

February 1 New Rules: 1 फरवरी से नया वित्तवर्ष शुरू होने जा रहा है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण कल बजट की पेशकश करने वाली है। जिसपर जनता की निगाहें टिकी हुई हैं। लोगों को यूनियन बजट से कई उम्मीदें हैं। इसी के साथ कल से कई नियमों में बदलाव भी होने जा रहे हैं। जिसका असर आपके पॉकेट पर पड़ेगा। बजट की घोषणा के बाद ढेरों नए नियम शुरू होंगे। कर्मचारियों के वेतन से लेकर खाद्य पदार्थों तक के नियमों में बदलाव होने जा रहा है। हम आपको उन नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके पैसों से जुड़े हैं। जिसका सीधा असर जनता पर पड़ेगा।

क्रेडिट कार्ड के नियमों में बदलाव

यदि आप बैंक ऑफ बड़ौदा के ग्राहक हैं तो आप जान लें कि कल से क्रेडिट कार्ड के नियम बदलने जा रहे हैं। अब इसके इस्तेमाल पर एक्स्ट्रा चार्ज का भुगतान करना होगा। बैंक ने इस बात का ऐलान किया है कि 1 फरवरी ने क्रेडिट कार्ड के माध्यम से रेंट पेमेंट्स पर 1 फीसदी चार्ज वसूलेगा।

टाटा मोटर्स की कारें होंगी महंगी

वाहन निर्माता कंपनी 1 फरवरी से वाहनों की कीमत में वृद्धि करने जा रही है। कंपनी की घोषणा के मुताबिक पैसेंजर्स व्हीकल्स के दाम बढ़ जाएंगे। कंपनी ने अलग-अलग मॉडल्स के लिए भाव में 1.2 फीसदी की बढ़ोत्तरी की है।

एलपीजी गैस के दाम में इजाफा

हर महीने के पहले दिन एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम तय कीये जाते हैं। 1 फरवरी से सिलेंडर के दामों में गिरावट या वृद्धि देखने को मिल सकती है। हालांकि पिछले महीने घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत में की बदलाव नहीं हुआ था।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News