College Admission 2021: मई से शुरू होगी कॉलेजों में नए सत्र के लिए प्रवेश प्रक्रिया

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के महाविद्यालय (University) में नय सत्र के लिए एडमिशन (Admission) प्रक्रिया मई महीने में शुरू होगी। कोरोना महामारी (Corona epidemic) के चलते पिछले सत्र की प्रवेश प्रक्रिया दिसंबर (December) महीने तक ख़त्म हो गई थी। लेकिन नय सत्र 2021 के लिए उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) ने बिना किसी देरी के एडमिशन प्रोसेस (Admission Process) को चालू करने का फैसला लिया है।

उच्च शिक्षा विभाग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के महाविद्यालय (University) में नय सत्र के लिए एडमिशन (Admission) प्रक्रिया मई महीने में शुरू होगी। कोरोना महामारी (Corona epidemic) के चलते पिछले सत्र की प्रवेश प्रक्रिया दिसंबर (December) महीने तक ख़त्म हो गई थी। लेकिन नय सत्र 2021 के लिए उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) ने बिना किसी देरी के एडमिशन प्रोसेस (Admission Process) को चालू करने का फैसला लिया है। और आने वाले मई महीने में यह प्रकिया चालू करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें….MP College: स्वरोजगार और सरकारी नौकरियों को लेकर शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान

दरअसल, पिछले साल कोरोना संक्रमण के चलते स्कूल-कॉलेज (School-College) के छात्रों को एग्जाम से लेकर प्रवेश तक में काफी विलंबन झेलना पड़ा। जिसके चलते छात्रों से लेकर उनके अभिभावक तक काफी परेशान रहे। बता दें कि हर साल महाविद्यालयों में नई प्रवेश प्रक्रिया फरवरी से शुरू होकर मई महीने में ख़त्म हो जाती थी। पर covid-19 के चलते बीते सत्र की पूरे होने की प्रक्रिया दिसंबर माह तक चली गई। वही कुछ नामी कॉलेजों में एडमिशन जनवरी लास्ट तक पहुंचे। छात्रों के भविष्य को देखते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने सत्र 2020-21 की प्रवेश प्रक्रिया में बिल्कुल भी देरी न करने का निर्णय लिया है। विभाग का कहना है की मई में नैय एडमिशन की प्रोसेस जल्द चालू कर सकते है। प्रवेश प्रक्रिया समय पर हो उसी में छात्रों की भलाई है।

यह भी पढ़ें….MP: लापरवाही पर इन स्कूलों को नोटिस, मान्यता रद्द करने की चेतावनी

जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश में 8 सरकारी विश्वविद्यालय (Government university) हैं। और लगभग 500 शासकीय कॉलेज (Government college) हैं। वहीं राजधान में 4 सरकारी विश्वविद्यालय (Government university) और 8 सरकारी महाविद्यालय (Government college) हैं। बता दें कि इन सभी कॉलेजों में सीट पाने के लिए एक एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है। जिसके बाद छात्रों के नंबरों के हिसाब से उनको डिपार्टमेंट और सीट मिलती है। वही ये ऑफलाइन एग्जाम होता है पर महामारी के चलते पिछले साल अधिकतर यूनिवर्सिटी ने पुराने अंकों के अकॉर्डिंग एडमिशन दिया था वही कई कॉलेज ने ऑनलाइन एग्जाम लेकर प्रवेश दिया था। बता दें कि इस साल भी छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए ऑनलाइन एग्जाम लेने की उच्च शिक्षा विभाग ने जिम्मेदारी कॉलेजों पर छोड़ी है।