CBSE Circular: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर स्कूलों में होगी ये 6 एक्टिविटी, सीबीएसई ने दिए निर्देश, मांगी रिपोर्ट, सर्कुलर जारी

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के गतिविधियों को लेकर सीबीएसई ने सर्कुलर जारी किया है। जिसमें कुछ एक्टिविटी का सुझाव दिया गया है, जिसका आयोजन स्कूल कर सकते हैं।

Manisha Kumari Pandey
Published on -
cbse news

CBSE Circular: 21 जून को हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। जिसे लेकर  सीबीएसई ने शैक्षणिक वेबसाइट https://cbseacademic.nic.in/ पर सर्कुलर जारी किया है। बोर्ड नेअंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर स्कूलों में कुछ गतिविधियों का आयोजन करने का निर्देश भी दिया है। इसके अलावा सीबीएसई ने स्कूलों को आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किए गए “कॉमन योग दिवस” प्रोटोकॉल हैंडबुक का पालन करने की सलाह भी दी है। स्कूल इस संबंध में यूट्यूब पर भारतीय भाषा में 22 वीडियो को देख सकते हैं।

स्कूलों को ये गतिविधियां करने की सलाह 

  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर स्कूल योग वर्कशॉप और सेमिनार का आयोजन छात्रों और शिक्षकों के लिए कर सकते हैं। इससे उनके बीच योग को अपनाने  और इसके प्रयास के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।
  • बोर्ड ने स्कूलों को इस अवसर पर सामूहिक योग प्रदर्शन का आयोजन करने की सलाह भी दी है।
  • इस दिन स्कूलों में योग के थीम पर आधारित क्विज और निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन भी होगा। जिससे छात्र इस विषय में रुचि लेंगे,
  • बोर्ड ने स्कूलों के प्रमुख को छात्रों कोऔर कर्मचारियों को IDY कंपटीशन में भाग लेने की सलाह दी है। बता दें कि इस प्रतियोगिता का आयोजन आयुष मंत्रालय द्वारा किया जाता है। इसके अलावा छात्र और कर्मचारी पीएम योग अवार्ड में भी भाग ले सकते हैं।
  • स्कूलों को IDY शब्द और योग से संबंधित आर्टिकल और आलेख स्कूल के ई न्यूज लेटर,  बुलेटिन और मैगजीन में पब्लिश करने की सलाह दी गई है।
  • माय गवर्नमेंट और आयुष मंत्रालय द्वारा योग क्विज में भाग लेने का सुझाव भी बोर्ड ने दिया है।

राज्य सरकार के निर्देश स्कूल जरूर करें पालन 

सीबीएसई ने स्कूलों को गर्मी की छुट्टियों आदि के संबंध में समय-समय पर जारी संबंध हेतु राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकार के सभी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त गतिविधियों संचालन करने की सलाह दी है। स्कूल इन गतिविधियों की एक संक्षिप्त रिपोर्ट दो या तीन तस्वीरों के साथ https://forms.gle/2XeSdQvD53Tk9KUi9 पर अपलोड  कर सकते हैं।

बोर्ड ने स्कूलों से कहा, “आपसे अनुरोध है कि उपरोक्त पर ध्यान दें और कुछ सुझाव को व्यवस्थित करें। अपने विद्यालय में विद्यार्थी एवं शिक्षकों को भी इनमें भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करें ताकि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उत्सव को भव्य रूप में सफल बनाया जा सके।”


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News